मिलिट्री हॉस्‍पिटल से बाहर आकर अपने समर्थकों से मिलने पहुंचे डोनाल्ड ट्रंप

वाशिंगटन। अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप कोरोना संक्रमित हैं और फिलहाल व्हाइट हाउस से दूर वॉल्टर रीड नेशनल मिलिट्री मेडिकल सेंटर में भर्ती हैं.
लेकिन रविवार को सभी चौंकाते हुए वो अस्पताल के बाहर मौजूद अपने समर्थकों से मिलने पहुंचे और हाथ हिलाकर सबका अभिवादन स्वीकार करते नज़र आए.
हालांकि वो कार में ही बैठे रहे और बाहर नहीं निकले. इस मौक़े पर ट्रंप ने मास्क पहन रखा था.
वैसे सोशल मीडिया पर एक्टिव रहने वालों को पता था कि राष्ट्रपति आज अस्पताल से बाहर निकल सकते हैं.
दरअसल, ट्रंप ने इस ख़ुद सरप्राइज़ विज़िट के बारे में ट्वीट किया था. उन्होंने ट्वीट किया था कि वो सरप्राइज़ विज़िट करेंगे.
राष्ट्रपति के एक डिप्टी असिस्टेंट के अनुसार “एक मेडिकल टीम ने कार में उनके बाहर निकलने की इजाज़त दी थी.”
उनके अनुसार इस ड्राइव पास्ट के दौरान कार चलाने वाले कर्मचारी और मोटककेड में शामिल कर्मचारियों की सुरक्षा के लिए सभी ज़रूरी कदम उठाए गए थे.
इससे पहले वॉल्टर रीड अस्पताल के डॉक्टरों ने उनके बाहर जाने को लेकर नकारात्मक प्रतिक्रिया दी थी और कहा था कि उनके साथ कार में रहने वाले व्यक्ति के संक्रमित होने का जोखिम कहीं अधिक है.
कोरोना को लेकर चर्चा में रहे हैं ट्रंप
अमरीका में कोरोना वायरस की स्थिति को संभालने को लेकर डोनाल्ड ट्रंप शुरू से ही निशाने पर रहे हैं लेकिन उन्होंने इस सरप्राइज़ विज़िट से पहले सोशल मीडिया पर जो पोस्ट शेयर की उसमें यह भी कहा कि उन्होंने इस वायरस के बारे में बहुत कुछ सीखा है.
इससे पूर्व अमरीकी राष्ट्रपति के डॉक्टरों ने कहा था कि ट्रंप की हालत में लगातार सुधार हो रहा हैं और शायद उन्हें सोमवार को अस्पताल से छुट्टी भी दे दी जाए. उनका इलाज कर रहे डॉक्टरों की टीम के सदस्य सीन कॉनले ने बताया कि इलाज के दौरान दो बार ट्रंप का ऑक्सीजन स्तर गिरा. इलाज के दौरान उन्हें डेक्सामेथासोन नामक स्टेरॉयड भी दी गई.
अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने गुरुवार को ट्वीट करके अपने और अपनी पत्नी मेलानिया ट्रंप के कोरोना पॉज़िटिव होने के बारे में जानकारी दी थी.
डॉ. कॉनले ने बताया कि जब से राष्ट्रपति ट्रंप का टेस्ट पॉज़िटिव आया है उन्हें एक बार ऑक्सीजन देने की ज़रूरत पड़ी है.
ट्रंप के स्वास्थ्य को लेकर तमाम तरह के कयासों और झूठी ख़बरों पर विराम लगाते हुए डॉ. कॉनले ने यह सारी जानकारी साझा की.
इससे पहले ट्रंप का इलाज कर रहे डॉक्टरों ने बताया था कि उन्होंने ट्रंप को ऑक्सीजन दिए जाने की बात पहले नहीं बताई थी ताकि “उनकी टीम का उत्साह बना रहे.”
ट्रंप ने वायरस के बारे में क्या कहा
सोमवार को ट्रंप ने एक वीडियो संदेश जारी करते हुए वायरस के बारे में बात की और कहा कि अस्पताल में रह कर उन्होंने इसके बारे में काफी कुछ सीखा है.
इस दौरान वो सूट में नज़र आए लेकिन उन्होंने टाई नहीं पहनी थी. अपने संदेश में उन्होंने कहा, “मैंने कोविड के बारे में बहुत कुछ सीखा. मैंने इसे वाकई उसी तरह सीखा जैसे कुछ लोग सीखने के लिए स्कूल जाते हैं. यह वास्तविक स्कूल है. यह ऐसा नहीं है कि किताब पढ़कर किसी विषय के बारे में समझ लिया जाए. मुझे ये हुआ और मैंने इसे समझा. यह एक बेहद दिलचस्प चीज़ है और मैं आपको इसके बारे में बताऊंगा.”
ट्रंप ऐसे वक्त कोरोना संक्रमित हुए हैं जब अमरीका में तीन नवंबर को राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव होने हैं. ट्रंप का मुक़ाबला इस बार डेमोक्रेटिक नेता जो बिडेन से है.
डॉक्टरों का क्या कहना है?
ट्रंप का इलाज कर रहे डॉ. कॉनले ने वॉल्टर रीड मिलिट्री मेडिकल सेंटर में संवाददाताओं को संबोधित करते हुए कहा कि कोरोना संक्रमित होने के बाद से ट्रंप का ऑक्सीजन लेवल दो बार कम हुआ था.
पहली बार शुक्रवार को (स्थानीय समय). उस वक्त वो व्हाइट हाउस में ही थे और उन्हें तेज़ बुखार था. उस समय उनका ऑक्सीजन लेवल 94 फ़ीसदी के नीचे आ गया था. एक स्वस्थ व्यक्ति का ऑक्सीजन स्तर 95 फ़ीसदी तक होता है.
डॉ. कॉनले ने बताया कि तब राष्ट्रपति को क़रीब एक घंटे के लिए ऑक्सीजन दिया गया था और उसके बाद उन्हें वॉल्टर रीड मेडिकल सेंटर ले आया गया.
दूसरी बार उनका ऑक्सीजन लेवल शनिवार को नीचे आ गया. उस वक़्त उनका ऑक्सीजन लेवल 93 फ़ीसदी के नीचे चला गया था.
डॉ. कॉनले ने यह नहीं बताया कि उन्हें दोबारा भी ऑक्सीजन देने की ज़रूरत पड़ी या नहीं लेकिन उन्होंने यह ज़रूर कहा कि “अगर उसकी ज़रूरत पड़ी भी थी तो यह बेहद सीमित थी.”
डॉ. कॉनले ने बताया कि डॉक्टरों की टीम ने ट्रंप की हालत को देखते हुए उन्हें डेक्सामेथासोन देने का फ़ैसला किया. कई शोध में पाया गया है कि डेक्सामेथासोन अस्पताल में कोविड-19 से जूझ रहे मरीज़ों को बीमारी से लड़ने में मदद करता है.
ट्रंप के लिए कितना ख़तरा
ट्रंप अभी 74 साल के हैं और उनकी गिनती मोटे लोगों में की जाती है. ऐसे लोगों के लिए कोविड-19 का ख़तरा दूसरों की तुलना में अधिक होता है.
शुक्रवार को उन्हें एक प्रायोगिक ड्रग कॉकटेल इंजेक्शन दिया गया था. इसके साथ ही उन्होंने पांच दिन का एंटी-वायरल रेमेडिसविर डोज़ भी लेना शुरू कर दिया था.
राष्ट्रपति ट्रंप का इलाज करने वाली डॉक्टरों की टीम के ब्रायन गैरीबाल्डी का कहना है, “राष्ट्रपति अब पहले से बेहतर महसूस कर रहे हैं. और आज हम उन्हें कुछ खिलाने-पिलाने की कोशिश करेंगे.”
डॉ. कॉनले ने बताया कि शुक्रवार के बाद से ट्रंप को बुख़ार नहीं आया है और उनका लीवर और किडनी सामान्य हैं लेकिन डॉ. कॉनले ने लंग स्कैन के बारे में कोई जानकारी नहीं दी.
होगी 206 लोगों की कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग
ट्रंप प्रशासन ने कहा है कि ट्रंप और व्हाइट हाउस के आला अधिकारियों के कोरोना पॉज़िटिव पाए जाने के बाद अब उन लोगों की स्क्रीनिंग की जाएगी जो संभवत: इन अधिकारियों के संपर्क में आए हों.
ट्रंप की टीम ने न्यूजर्सी स्वास्थ्य विभाग को बताया है कि ट्रंप की कोरोना टेस्ट रिपोर्ट आने से पहले गुरुवार को वो एक फंडरेज़र में शामिल हुए थे जिसमें कम से कम 206 लोग भी थे जो उनके संपर्क में आए थे.
न्यूजर्सी स्वास्थ्य विभाग ने कहा है कि वो सभी से संपर्क कर उन्हें बता रहे हैं कि वो जोखिम में हो सकते हैं, इसलिए वो कोरोना के लक्षणों के लिए अपनी जांच करते रहें.
-BBC

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *