घरेलू हवाई किरायों में 17 फीसदी तक की वृद्धि

विमान ईंधन (एटीएफ) चार साल में सर्वोच्च स्तर पर पहुंच गया है और इस वजह से घरेलू हवाई किरायों में तेजी से वृद्धि हो रही है। मई के पहले 15 दिनों में पिछले साल की समान अवधि की तुलना में घरेलू हवाई सफर 17 फीसदी तक महंगा हो गया है। यात्रा डॉट कॉम ने विभिन्न घरेलू रूटों के विश्लेषण के बाद यह डेटा जुटाया है।
किरायों में वृद्धि से डिमांड और लोड फैक्टर भी प्रभावित हुआ है। यात्रा डॉट कॉम के सीओओ शरत ढाल ने कहा, ‘अहम रूटों पर मई की शुरुआत से औसत किराये में तेजी आई है। अप्रैल 2018 की तुलना में किराये में औसतन 15 फीसदी और पिछले साल की तुलना में औसतन 10 फीसदी (अधिकतम 17 फीसदी तक) उछाल है।’
उन्होंने आगे कहा, ‘यह खासतौर पर अंतिम समय के किरायों में दिख सकता है, जिसमें काफी वृद्धि हुई है। इस बढ़ोत्तरी की वजह मई की शुरुआत में एटीएफ का 63 फीसदी महंगा होना और गर्मी की छुट्टियों की वजह से डिमांड बढ़ना है।’
इंडियन ऑइल वेबसाइट के मुताबिक दिल्ली में विमान ईंधन मई 2018 में 65,340 प्रति किलोलीटर हो चुका है। भारत में एयरलाइन ऑपरेशंस खर्च में 50 फीसदी हिस्सेदारी विमान ईंधन की है।
भारत में घरेलू यात्रियों की वृद्धि दर इस समय दुनिया में सर्वाधिक है, लेकिन किराया बढ़ने से इस पर असर पड़ सकता है।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »