मोबाइल नेटवर्क के लिए कुत्ते का सहारा भी बाबुल सुप्रियो के काम नहीं आया

कोलकाता। डिजिटल इंडिया के तमाम दावों के बावजूद ट्रेन में सफर करने के दौरान यात्रियों को अक्‍सर मोबाइल नेटवर्क के संकट से जूझना पड़ता है। केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो को भी इस समस्‍या का सामना करना पड़ रहा था। उन्‍होंने इससे निपटने के लिए एक नायाब तरीका निकाला। सुप्रियो ने अपने कुत्‍ते के साथ ट्रेन में सफर करना शुरू किया। यह कुत्‍ता देखने में कुछ उसी तरह से था जैसा कि उनकी मोबाइल सेवा देने वाले कंपनी का ब्रैंड ऐंबैसडर है।
केंद्रीय मंत्री सुप्रियो ने ट्वीट कर लिखा, ‘मैं पुग्‍गी एडी को अपने साथ लेकर राजधानी (एक्‍सप्रेस) में सफर कर रहा हूं और आशा करता हूं कि यात्रा के दौरान नेटवर्क उसके पीछे आएगा क्‍योंकि यह उनका ब्रैंड ऐंबैसडर है जिसका कि वे अपने विज्ञापनों में दावा करते हैं।’ हालांकि मोबाइल नेटवर्क के संकट से जूझ रहे केंद्रीय मंत्री को निराशा हाथ लगी। उन्‍होंने लिखा, ‘दुखद। मेरे इस कदम से कोई मदद नहीं मिली।’
बाबुल सुप्रियो के इस कटाक्ष भरे ट्वीट के बाद मोबाइल कंपनी को लोग जमकर ट्रोल कर रहे हैं। सुदीपा चटर्जी लिखती हैं, ‘सुप्रियो जी आपने लग रहा है विज्ञापन का गलत अर्थ समझ लिया। उनका दावा है कि जहां भी आप जाएंगे, वह आपका पीछा करेंगे। और उसने ऐसा किया। वह आपके साथ रहा पूरी यात्रा के दौरान।’
एक अन्‍य यूजर ने लिखा, ‘बाबुल सर, राजधानी एक्‍सप्रेस का पीछा करते हुए नेटवर्क ट्रेन में मौजूद था। कंपनी का नेटवर्क हमेशा दावा करता है कि वह आपका पीछा करता है लेकिन उसने कभी यह दावा नहीं किया कि वह आपके साथ है।’
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »