क्‍या आप भी लॉक-डाउन में घुटन का अहसास करते हैं, तो जानिए 10 विशेष लाभ

लॉक-डाउन को एक बंदिश और घुटन का अहसास करने वाले कई लोग आपको अपने आस-पास मिल जाएंगे, लेकिन साथ ही ऐसे लोग भी देखने को मिलेंगे जो इस वक्त को जीवन में मिले एक अवसर की तरह ले रहे हैं ताकि अपने उन कामों और सपनों को पूरा कर सकें, जिनके लिए आज तक वक्त ही नहीं निकाल पाए। यहां जानें, Lock Down के 10 खास फायदे…
खर्च पर लगाम रहती है
पहले आप बाहर के खाने, शॉपिंग और गैर जरूरी चीजों पर यूं ही बिना अधिक सोचे खर्च कर देते थे लेकिन इन दिनों आप इस बात को आसानी से अनुभव कर सकते हैं कि इस तरह की फिजूल खर्ची के बिना भी आप आराम से रह सकते हैं।
आपका नया नजरिया
घर में बंद रहने के दौरान आप अपनी जिंदगी के अब तक के सफर पर नजर डालें। गौर करें कि क्या वाकई आपने अब तक वैसी लाइफ जी है, जैसे जीवन की कल्पना आप अपने लिए करते हैं। अगर हां तो प्लान करें कि इसे और अधिक इंट्रस्टिंग कैसे बना सकते हैं। …और अगर आपका जबाव ना में है तो सोचें कि आपको कहां बदलाव की जरूरत है और इसे कैसे पूरा करना है।
करियर के बदलाव
अगर आप हमेशा से वर्क फ्रॉम होम करना चाहते थे तो इस दौरान आप यह बात अपने टीम लीडर और कंपनी के सामने पेश कर सकते हैं। इस दौरान अगर आपके पास वर्क फ्रॉम होम का विकल्प है तो जमकर मेहनत करें और पूरे फोकस से अधिक प्रोडक्टिविटी दें। इससे आपको भविष्य में अपनी जरूरत के हिसाब से इस तरह काम करने का चांस मिल सकता है।
चलो कुछ नया सीखें
कोई ऐसा ऑनलाइन कोर्स जिसे आप लंबे समय से करना चाहते थे लेकिन वक्त नहीं मिल पा रहा था तो आप इस समय में अपनी इच्छा पूरी कर सकते हैं। साथ ही बिना किसी दूसरी उलझन के इस काम को पूरी तरह इंजॉय भी कर सकते हैं। आप राइटिंग, अपनी फिटनेस या डांस पर फोकस कर सकते हैं।
गैर जरूरी चीजों से मुक्ति
घर में रहने के दौरान आप पुराने कपड़े, किताबें, बर्तन या कुछ दूसरी चीजें जिन्हें हमेशा ही छांटकर आप किसी को देना चाहते थे लेकिन इसके लिए आपको कभी वक्त नहीं मिल पा रहा था। लॉक-डाउन के दौरान घर में रहने के दौरान आप ये सब काम कर सकते हैं। इससे घर की सफाई भी होगी और दिमाग का बोझ भी हल्का होगा।
क्रिएटिव कुकिंग
घर के अंदर रहने के दौरान आप रसोई में रखे उन सीमित फूड्स से कुछ क्रिएटिव और टेस्टी बनाने की कोशिश करेंगे, जिनका आपने लंबे समय से उपयोग नहीं किया है। इससे आपको घर में ही टेस्टी और क्रिएटिव कुकिंग का अनुभव मिलेगा। जो लॉक-डाउन हटने के बाद भी आपके काम आएगा और तब आप हेल्दी खाने की कोशिश करेंगे और बाहर के खाने से बचेंगे।
पर्यावरण की सफाई
दुनियाभर में कई देशों में लॉक-डाउन के चलते और दूसरे देशों से आवाजाही पर रोक के कारण पर्यावरण की चोटें ठीक होने लगी हैं। जैसे, एयर पलूशन कम हो रहा है, समुद्री किनारों पर हलचल कम होने के कारण जलीय जीवों अपनी लाइफ इंजॉय कर पा रहे हैं। डॉल्फिन्स इसका उदाहरण हैं।
केले चाइना का हाल जानें
फॉर्ब्स मैग्जीन के अनुसार, केवल चीन में ही 77 हजार जानें इस लॉक-डाउन की वजह से बच पाई हैं क्योंकि वहां एयर पलूशन का स्तर काफी कम हो गया है और लोगों की सांस संबंधी बीमारियों से मौत का सिलसिल थमा है। लॉक-डाउन लोगों को इस बात का अहसास करा रहा है कि यदि पूरी दुनिया ठान ले तो क्लाइमेट चेंज और ग्लोबल वॉर्मिंग के बढ़ते खतरे से निपटा जा सकता है।
परिवार के साथ मजबूत बॉन्डिंग
भागदौड़ भरी जिंदगी में आप अपने परिवार और बच्चों को वक्त नहीं दे पाते थे। लेकिन आपको शायद ही इस बात की जानकारी हो कि बच्चा 24 घंटे अपने पैरंट्स का साथ चाहता है। इसलिए इन दिनों वह अपनी इस अनजानी इच्छा को पूरा होता देख कहीं अधिक खुश होंगे। साथ ही आपको भी महसूस हो रहा होगा कि परिवार के साथ वक्त बिताना कितना जरूरी है।
घर के बड़ों की इंपॉर्टेंस
यही वह वक्त है जब आप अपने पैरंट्स और ग्रांड पैरंट्स को इस बात का अहसास करा सकते हैं कि वे आपके लिए कितने महत्वपूर्ण हैं। उनका साथ और मार्गदर्शन ही आपको जीवन की परेशानियों से निपटने में मदद करता है। साथ ही कोरोना संक्रमण का बुजुर्गों पर अधिक प्रकोप होने के कारण हम उन्हें खोने का जो डर महसूस कर रहे हैं, वो हमें उनके प्रति प्यार से भर रहा है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »