एकेटीयू कापटेक-19 में छाया वीरेन्द्र कुमार का Digital Mazdoor ऐप

मथुरा। तकनीकी शिक्षा के क्षेत्र में ब्रज मण्डल के ख्यातिनाम जीएल बजाज ग्रुप आफ इंस्टीट्यूशन्स के मेधावी छात्र वीरेन्द्र कुमार के Digital Mazdoor ऐप व वेबसाइट को डा. एपीजे अब्दुल कलाम तकनीकी विश्वविद्यालय द्वारा प्रथम पुरस्कार प्रदान किया गया। छात्र वीरेन्द्र कुमार को पुरस्कार स्वरूप रुपये 20 हजार की प्रोत्साहन राशि भी प्रदान की गई।

नवाचार और उद्यमिता के क्षेत्र में भी श्रेष्ठतम संस्थानों में शुमार

छात्र-छात्राएं लगातार अपनी मेधा का परिचय देते हुए देश भर में जीएल बजाज ग्रुप आफ इंस्टीट्यूशन्स का नाम रोशन कर रहे हैं। जीएल बजाज ग्रुप आफ इंस्टीट्यूशन्स टेक्निकल, आर्किटेक्ट व बिजनेस की पढ़ाई के साथ ही साथ नवाचार और उद्यमिता के क्षेत्र में भी श्रेष्ठतम संस्थानों में शुमार है।

ज्ञातव्य है कि गत दिवस लखनऊ में डा. एपीजे अब्दुल कलाम तकनीकी विश्वविद्यालय द्वारा वार्षिक परियोजना और पोस्टर तकनीकी प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। इस प्रतियोगिता का उद्देश्य विश्वविद्यालय के छात्र-छात्राओं में नई सोच और प्रस्तुति कौशल को बढ़ाना रहा। इस प्रतियोगिता में देशभर से डेढ़ हजार से अधिक युवा वैज्ञानिकों ने प्रतिभाग किया था।

प्रतियोगिता में देश की युवा तरुणाई ने शानदार तकनीकी कौशल का परिचय दिया लेकिन जीएल बजाज ग्रुप आफ इंस्टीट्यूशन्स के छात्र वीरेन्द्र कुमार द्वारा बनाया गया स्टार्टअप Digital Mazdoor ऐप सबके बीच चर्चा का विषय रहा। वीरेन्द्र कुमार का Digital Mazdoor ऐप व वेबसाइट एक ऐसा इनोवेशन है जोकि देश के करोडों मजदूरों के भविष्य को नई दिशा दे सकता है। इस डिजिटल मजदूर वेबसाइट से आप घर बैठे किसी भी प्रकार का मजदूर बुक कर सकते हैं।

आर.के. एजूकेशन हब के चेयरमैन डा. रामकिशोर अग्रवाल, वाइस चेयरमैन पंकज अग्रवाल, मैनेजिंग डायरेक्टर मनोज अग्रवाल और संस्थान के निदेशक डा. एल.के. त्यागी ने छात्र वीरेन्द्र कुमार की इस शानदार सफलता पर खुशी जताते हुए बधाई दी।

चेयरमैन डा. रामकिशोर अग्रवाल ने अन्य छात्र-छात्राओं को भी वीरेन्द्र कुमार से प्रेऱणा लेने का आह्वान किया और कहा कि आज वही युवा आगे बढ़ सकता है जिसमें नई सोच के साथ कुछ करने का जज्बा होगा।

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *