KV Kamat, स्वपन दासगुप्ता को मोदी कैब‍िनेट में शाम‍िल करने की चर्चा

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दिग्गज बैंकर और ब्रिक्स बैंक के चेयरमैन KV Kamat को जल्द ही अपने कैबिनेट में शामिल कर सकते हैं। न्यूज एजेंसी आइएएनएस की एक रिपोर्ट के मुताबिक KV Kamat को वित्त मंत्रालय में राज्य मंत्री बनाया जा सकता है। आगामी बजट से पहले यह खबर काफी महत्वपूर्ण है क्योंकि देश के आर्थिक हालात कई मोर्चों पर चुनौतीपूर्ण बने हुए हैं। ब्रिक्स बैंक से जुड़ने से पहले कामत देश की दूसरी सबसे बड़ी आईटी कंपनी Infosys के चेयरमैन और ICICI Bank के नॉन-एक्जीक्यूटिव चेयरमैन थे।

रिपोर्ट के मुताबिक मोदी कैबिनेट में स्वपन दासगुप्ता ओर नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत को भी जगह मिल सकती है।

दासगुप्ता दक्षिणपंथी विचारधारा से जुड़े हैं। उन्हें मानव संसाधन विकास विभाग में जूनियर मंत्री बनाया जा सकता है। अभी एचआरडी मंत्रालयों के सामने बड़ी चुनौती है। देश के कई केंद्रीय विश्वविद्यालयों में उथल-पुथल की स्थिति है। मोदी सरकार कई पेशेवर लोगों के अनुभव का लाभ उठाना चाहती है।

नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत भी उन पेशेवर लोगों में शामिल हैं जिन्हें केंद्रीय मंत्रीपरिषद का हिस्सा बनाया जा सकता है। इसके अलावा सुरेश प्रभु को भी मंत्री बनाए जाने की संभावना है। इससे पहले भी वह मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में बतौर मंत्री बड़ी जिम्मेदारी संभाल चुके हैं। तब उन्होंने रेल मंत्रालय और वाणिज्य मंत्रालय जैसे अहम मंत्रालय संभाले थे।

उल्लेखनीय है कि कामत ने 2011 में नारायण मूर्ति से Infosys की कमान अपने हाथों में ली थी। इससे पहले वह कंपनी के गैर-कार्यकारी चेयरमैन थे।

कामत के नाम को लेकर आई रिपोर्ट काफी अहम है क्योंकि वर्तमान में भारतीय अर्थव्यवस्था स्लोडाउन का सामना कर रही है। चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में देश की जीडीपी वृद्धि की रफ्तार घटकर 4.5 फीसद रह गई। GDP को लेकर सरकार के पहले आकलन के मुताबिक चालू वित्त वर्ष में आर्थिक वृद्धि की रफ्तार घटकर पांच फीसद के आसपास रह सकती है।

इन हालात में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण एक फरवरी को वित्त वर्ष 2020-21 का केंद्रीय बजट पेश करेंगी। स्लोडाउन के बीच इस बजट का लोग बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं क्योंकि लोगों को उम्मीद है कि सरकार इस बजट में अर्थव्यवस्था को मजबूती और गति देने के लिए कई तरह के उपाय कर सकती है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने पहले कार्यकाल में हरदीप पुरी, के जे अल्फोंस और एम जे अकबर जैसे पेशेवरों को मंत्री बनाया था। वित्त मंत्रालय में कामत की जिम्मेदारी देना बड़ा संकेत होगा, क्योंकि अब तक सिर्फ राजनीतिज्ञ ही मोदी सरकार में वित्त मंत्रालय का हिस्सा बनते रहे हैं। – एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *