Sanjali हत्‍याकांड का खुलासा, लूजर कहे जाने पर ताऊ के बेटे न ही जला डाला

योगेश ने चचेरी बहन Sanjali को मॉडल बनाने के लिए 1.5 लाख रुपया खर्च किया था

आगरा। आगरा के चर्चित Sanjali हत्याकांड का खुलासा पुलिस ने कर दिया है। Sanjali को किसी और ने नहीं बल्कि उसके ताऊ के बेटे योगेश ने ही सरेराह जिंदा जलाया था। हत्याकांड में कई ऐसे तथ्य सामने आए हैं, जो हैरान करने वाले हैं।

Agra police disclosed Sanjali massacre
Agra police disclosed Sanjali massacre

योगेश ने चचेरी बहन संजलि को मॉडल बनाने के लिए 1.5 लाख रुपया खर्च किया था। वो संजलि को अपने हुक्म की गुलाम बनाना चाहता था, जबकि वो अपनी जिंदगी आजादी से जीना चाहती थी। योगेश ने जोर डाला तो संजलि ने उसका अपमान किया और उसे ‘लूजर’ कह दिया।

इसी से आहत होकर उसने संजलि को जिंदा जला दिया। दिल दहला देने वाली वारदात में योगेश ने 15-15 हजार का लालच देकर दो रिश्तेदार युवकों को शामिल किया था। पुलिस ने मंगलवार को दोनों को गिरफ्तार कर खुलासे का दावा किया है।

योगेश ने संजलि को साइकिल खरीदकर दी। घर पर बोला कि संजलि ने प्रतियोगिता में जीती है। इस प्रतियोगिता का सर्टिफिकेट भी योगेश ने अपने कंप्यूटर से तैयार किया था। उसकी हरकतों का पता चलने पर संजलि ने उससे दूरी बना ली, उससे घर आने के लिए मना कर दिया।

व्हाट्स एप पर इतना तक कह दिया कि तुम भाई कहलाने के लिए लायक नहीं हो। 23 नवंबर को संजलि के पिता हरेंद्र पर हमला हुआ था। संजलि को लगा कि हमला योगेश ने करवाया है। उसने लिख दिया, यू आर लूजर। तभी योगेश ने साजिश रच ली। इसमें रिश्तेदार युवक आकाश और विजय को 15 – 15 हजार देने का लालच देकर शामिल कर लिया।

संजलि के स्कूल के पास के 18 दिसंबर के सीसीटीवी फुटेज में तीनों संजलि के पीछे जाते नजर आए। इसी से पुलिस को सुराग मिल गया। आकाश और विजय से पूछताछ की तो खुलासा हो गया। जेल भेजे गए युवकों के नाम हैं-

विजय पुत्र राजकुमार निवासी कलवारी, जगदीशपुरा (योगेश के मामा का बेटा है, बढ़ई का काम करता है)

आकाश पुत्र विज्जो सिंह निवासी मनिया, मलपुरा, हाल निवासी लखनपुर, शास्त्रीपुरम (विजय की बहन का देवर है, बढ़ई का काम करता है।

18 दिसंबर की दोपहर की थी वारदात

लालऊ गांव में 18 दिसंबर की दोपहर स्कूल की छुट्टी के बाद घर लौटती 10 वीं की छात्रा संजलि को रास्ते में पेट्रोल डालकर जला दिया गया था। उसने 19 की रात दो बजे दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में दम तोड़ दिया। 20 की सुबह साढ़े छह बजे उसके तहेरे भाई योगेश ने लालऊ में घर में जहर खा लिया। अस्पताल में उसकी मौत हो गई।

इस संबंध में एसएसपी अमित पाठक ने बताया कि संजलि की हत्या का मास्टरमाइंड योगेश ही था। आकाश और विजय घटना में शामिल रहे। उनके खिलाफ तमाम साक्ष्य मिले हैं।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »