राममंदिर के लिए ढोलकिया ने 11 करोड़, तो कबूतरवाला ने दिया 5 करोड़ का दान

अहमदाबाद। अयोध्या में भगवान श्री राम का भव्य मंदिर निर्माण कार्य शुरू हो चुका है। मंदिर निर्माण के लिए हीरा कारोबारी गोविंद भाई ढोलकिया ने 11 करोड़ रुपये का चंदा किया है। गुजरात में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) व विश्व हिंदू परिषद (विहिप) अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए चंदा एकत्र करने का अभियान शुरू कर दिया है। सूरत के हीरा व्यापारी और रामकृष्ण डायमंड के मालिक गोविंद भाई ढोलकिया ने भगवान श्रीराम में अपनी आस्था तथा सनातन हिंदू धर्म के लिए 11 करोड़ का दान किया है। गोविंद भाई पिछले कई साल से राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़े हुए हैं तथा 192 में हुई कार सेवा में भी वह शामिल हुए थे। गोविंद भाई ढोलकिया हीरा कारोबारी हैं और मूल रूप से सौराष्ट्र गुजरात के हैं।
गोविंद भाई ढोलकिया के अलावा सूरत के ही बिजनेस मैन महेश कबूतर वाला ने पांच करोड़ का दान किया है। कबूतर वाला भारत में केमिकल इंडस्ट्रीज के क्षेत्र में जाने माना चेहरा है। उनके अलावा सूरत के जाने-माने उद्योगपति व सामाजिक कार्यकर्ता लवजी बादशाह ने भी एक करोड़ रुपये राम मंदिर के निर्माण के लिए दिए हैं। सूरत में ऐसे और कई उद्यमी तथा व्यापारी हैं, जिन्होंने राम मंदिर के निर्माण के लिए पांच से 2100000 रुपये का दान किया है। पूर्व सांसद व भारतीय जनता पार्टी गुजरात के कोषाध्यक्ष सुरेंद्र भाई पटेल व भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रदेश उपाध्यक्ष व पूर्व मंत्री गोरधन झड़प पिया ने भी पांच पांच लाख राम मंदिर निर्माण के लिए दान किए हैं।
भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष व पूर्व मंत्री गोवर्धन झड़फिया बताते हैं कि गोविंद भाई अमरेली जिले के लाठी तहसील के दुधाला गांव के निवासी हैं। वह एक कृषक परिवार से आते हैं तथा 1970 से पहले सूरत जाकर उन्होंने एक हीरा कारीगर के रूप में काम शुरू किया था। पांच साल तक डायमंड फैक्ट्री में हीरा श्रमिक के रूप में काम करने के बाद वह कुछ वर्क लेने लगे। हीरा पॉलिस कराते और उद्योगपतियों को हीरा की रफ की खरीद-फरोख्त में मदद करते। कुछ साल बाद उन्होंने अपने कुछ दोस्तों के साथ मिलकर रामकृष्ण डायमंड के नाम से हीरा कारोबार शुरू किया और फिर कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। अपने गांव तथा अमरेली जिले में भी गोविंद भाई शिक्षा स्वास्थ्य तथा धार्मिक कार्यक्रमों में मदद करते हैं तथा उनका एक चैरिटेबल ट्रस्ट भी चलता है। गोविंद भाई एक गैर राजनीतिक व्यक्ति हैं, लेकिन राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के साथ उनका वैचारिक जुड़ाव पिछले काफी साल से है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *