देवगौड़ा का बयान: प्रधानमंत्री पद के लिए राहुल गांधी हमें स्‍वीकार

बेंगलुरु। कांग्रेस की तरफ से पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी को 2019 लोकसभा चुनाव में गैर-बीजेपी फ्रंट का चेहरा बनाए जाने की कवायद के बीच जेडीएस सुप्रीमो और पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा ने एक बड़ा बयान दिया है। देवगौड़ा ने कहा है कि राहुल गांधी को प्रधानमंत्री स्वीकार करने के लिए उनकी पार्टी तैयार है। बता दें कि कर्नाटक में जेडीएस और कांग्रेस गठबंधन की सरकार है।
बता दें कि रविवार को राहुल गांधी की अध्यक्षता में पार्टी की सीडब्ल्यूसी (कांग्रेस वर्किंग कमेटी) की पहली मीटिंग में 2019 के लिए रोडमैप पर चर्चा की गई। इस 2019 में समान विचारधारा वाली पार्टियों के साथ गठबंधन बनाने को लेकर टीम बनाने पर भी जोर दिया गया। यही नहीं, कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला के मुताबिक बैठक में सभी वक्ताओं ने एक सुर में राहुल गांधी के नेतृत्व में पार्टी को आगे बढ़ाने की बात कही। सभी ने कहा कि गठबंधन में कांग्रेस को नेतृत्व करना चाहिए और सबसे बड़ी विपक्षी पार्टी का अध्यक्ष होने के नाते राहुल गांधी को गठबंधन का चेहरा होना चाहिए।
कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक के ठीक एक दिन बाद सोमवार को देवगौड़ा ने राहुल गांधी को लेकर यह बड़ा बयान दिया है। देवगौड़ा ने कहा, ‘राहुल गांधी को प्रधानमंत्री स्वीकार करने में हमारी पार्टी के सामने कोई दुविधा नहीं है।’
2019 के लिए जुटे बीजेपी-कांग्रेस
बता दें कि 2019 लोकसभा चुनाव को लेकर बीजेपी और कांग्रेस ने अपनी-अपनी तैयारी शुरू कर दी है। एक तरफ जहां बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और पीएम नरेंद्र मोदी एनडीए के सहयोगियों को बरकरार रखने और नए सहयोगियों को साथ लाने की जुगत में हैं, वहीं कांग्रेस गैर-बीजेपी फ्रंट तैयार करने के लिए लगातार विपक्षी पार्टियों के संपर्क में है। रविवार को भी पार्टी ने वर्किंग कमेटी की बैठक में 10 सूत्रीय भावी रणनीति को आकार देने की कोशिश की।
कांग्रेस का 300 सीटों पर जीत का फॉर्म्यूला
सूत्रों के मुताबिक बैठक में पूर्व वित्त मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी. चिदंबरम ने कहा कि 12 राज्यों में कांग्रेस मजबूत है और अगर पार्टी अपनी क्षमताओं में 3 गुना इजाफा करे तो 150 सीटें जीती जा सकती हैं। इसके अलावा अन्य राज्यों में गठबंधन की मदद से कांग्रेस 150 और सीटें जीत सकती है। एक तरह से पी. चिदंबरम ने मोटा-मोटी 300 सीटों पर जीत का फॉर्म्यूला देने की कोशिश की।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »