कर्नाटक में मध्यावधि चुनाव का संकेत देकर पलटे Deve Gowda

बेंगलुरु। कर्नाटक में मध्यावधि चुनाव का संकेत देकर सूबे की सियासत में भूचाल लाने के कुछ देर बाद ही जेडीएस प्रमुख एच डी Deve Gowda अपने बयान से पलट गए। अब Deve Gowda ने कहा है कि वह विधानसभा नहीं बल्कि स्थानीय निकाय चुनाव की बात कर रहे थे।
बता दें कि इससे पहले Deve Gowda ने कांग्रेस को तीखे तेवर दिखाते हुए दो टूक कहा था कि कर्नाटक में मध्यावधि चुनाव तय है। उन्होंने कांग्रेसी नेताओं के रवैये को लेकर भी सवाल उठाए थे।
मध्यावधि चुनाव को लेकर अपने बयान पर यू-टर्न लेते हुए देवगौड़ा ने कहा, ‘मैंने यह निकाय चुनाव के लिए कहा, विधानसभा के लिए नहीं। मैं यहां अपनी पार्टी को मजबूत करने के लिए हूं। जैसा कि एच डी कुमारस्वामी (सूबे के सीएम और देवगौड़ा के बेटे) ने कहा है, यह सरकार अपना कार्यकाल पूरा करेगी। जेडीएस और कांग्रेस के बीच बेहतर तालमेल है।’
गठबंधन मेरा विचार नहीं था: देवगौड़ा
बता दें कि इससे पहले देवगौड़ा ने गठबंधन को लेकर भी सवाल उठाए। पूर्व पीएम ने कहा कि वह पहले ही सूबे में जेडीएस और कांग्रेस गठबंधन के समर्थन में नहीं थे। उन्होंने दो टूक कहा कि सोनिया गांधी ने उनसे इस गठबंधन के लिए निवेदन किया था, जिसके बाद उन्होंने सहमति जताई थी। देवगौड़ा ने कहा कि गठबंधन का विचार उनका नहीं बल्कि राहुल गांधी, यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद का था।
कांग्रेस के बर्ताव पर उठाए सवाल
कांग्रेस के बर्ताव पर सवाल उठाते हुए देवगौड़ा ने कहा, ‘इसमें कोई संदेह नहीं है कि मध्यावधि चुनाव होगा। उन्होंने (कांग्रेस) कहा था कि वे पूरे 5 साल सरकार का समर्थन करेंगे लेकिन अब उनका व्यवहार देखिए।’
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »