सरकारी बंगले में तोड़फोड़ करके फंसे अखिलेश तो सीएम योगी पर लगाया बड़ा आरोप

लखनऊ। यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव के खाली हुए सरकारी बंगले की तोड़फोड़ के मामले में अब आरोप-प्रत्यारोप का सिलसिला तेज हो गया है। शनिवार को अखिलेश यादव ने योगी सरकार को निशाने पर लेते हुए टूटे सामानों की लिस्ट देने को कहा था। अब इसके 24 घंटे के अंदर ही समाजवादी पार्टी (एसपी) ने इस मामले में सीधे सीएम योगी आदित्यनाथ पर आरोप जड़ दिया है। एसपी का कहना है कि लगातार चुनावों में हार के बाद बौखलाहट की वजह से सीएम योगी ने खुद बंगले में तोड़फोड़ के निर्देश दिए थे।
एसपी के नेता सुनील यादव ने मीडिया से बातचीत करते हुए इस मुद्दे पर कहा, ‘4 विक्रमादित्य मार्ग के सरकारी बंगले की चाबी राज्य संपत्ति विभाग को सौंपे जाने के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ ने खुद बंगले के अंदर तोड़फोड़ का आदेश दिया। ऐसा जनता के बीच अखिलेश यादव की छवि को धूमिल करने के लिए किया जा रहा है, क्योंकि उपचुनावों में एक के बाद एक हार के बाद से सीएम योगी आदित्यनाथ निराश हैं।’
वहीं, यूपी के परिवहन मंत्री स्वतंत्र देव सिंह ने अखिलेश पर सुप्रीम कोर्ट के आदेश के उल्लंघन का आरोप लगाते हुए कहा, ‘बंगले से एयर कंडिशनर (एसी) और टाइल्स को नहीं हटाना चाहिए था क्योंकि ये राज्य सरकार की संपत्ति है। उन्होंने सुप्रीम कोर्ट के आदेश का उल्लंघन किया है। इस मामले में आगे जांच की जरूरत है।’
रिकवरी करेगा राज्य संपत्ति विभाग
खबर है कि राज्य सम्पत्ति विभाग सरकारी बंगले में हुई तोड़फोड़ मामले में रिकवरी करेगा। राज्य सम्पत्ति अधिकारी योगेश शुक्ला का कहना है, ‘हमारे पास हर कामकाज और सामान की लिस्ट होती है। उससे मिलान किया जाएगा। अगर जानबूझकर तोड़फोड़ की गई है तो नोटिस भेजा जाएगा और रिकवरी की कार्यवाही की जाएगी।’
इस मुद्दे पर प्रतिक्रिया देते हुए समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी ने कहा, ‘राज्य सम्पत्ति विभाग लिस्ट दिखाए और बताए कि उसका क्या सामान गायब हुआ है। पार्टी को बदनाम करने की नीयत से तोड़फोड़ और सामान गायब होने की बातें कही जा रही हैं।’
अखिलेश का योगी सरकार पर वार
शनिवार को अखिलेश ने इस मामले में कहा, ‘हमारे तो आंवला और अन्य कई महंगे पेड़ उस घर में छूट गए हैं। सरकार हमें टूटे-फूटे सामान की लिस्ट दे तो हम एक-एक सामान वापस कर देंगे लेकिन जो हमारा सामान छूटा है, सरकार वह हमें वापस करे। किसी को बदनाम करने का तरीका सीखना है तो बीजेपी से सीखे। वे काफी होशियारी कर रहे हैं लेकिन भगवान और जनता सब देख रहे हैं। अधिकारी भी जान लें कि सरकारें आती और जाती हैं। हमने बहुत से अफसरों को कप-प्लेट उठाते हुए देखा है।’
अखिलेश ने खुद ही बनवाया था बंगला
अखिलेश यादव ने अपने मुख्यमंत्री रहते हुए 4, विक्रमादित्य मार्ग पर यह बंगला बनवाया था। इसे सजाने के लिए राज्य सम्पत्ति विभाग ने दो किस्तों में 42 करोड़ रुपये जारी किए थे। मुख्यमंत्री पद से हटने के बाद वह इसमें रहने लगे थे। अखिलेश ने दो जून को ही बंगला खाली कर दिया था लेकिन कुछ सामान रखा होने की बात कहकर तब चाबी राज्य सम्पत्ति विभाग को नहीं सौंपी थी। शुक्रवार रात अखिलेश और मुलायम के बंगलों की चाबी राज्य सम्पत्ति विभाग को दे दी गई थी।
इनके बंगले में भी हुई तोड़फोड़
मुलायम सिंह यादव: अखिलेश के बंगले से सटे मुलायम सिंह यादव के बंगले से भी AC गायब हैं। दीवारों पर की गई पेंटिंग खरोंच दी गई हैं। यहां भी कुछ स्विच बोर्ड और वायरिंग टूटी हुई मिली।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »