उज्जैन की शांतिभंग करने वाले पत्थरबाजों पर कठोर कार्यवाही हो

नई द‍िल्ली। रामजन्मभूमि पर प्रभु श्रीराम जी के मंदिर के निर्माणार्थ निधी संकलन करने हेतु निकाली गई हिंदुत्वनिष्ठों की वाहन रैली पर छतों से और गलियों में छिपे कुछ बच्चे, महिला और उपद्रवी घटकों द्वारा पथराव किया गया जिसमें 14 लोग घायल हुए और 4 वाहनों की भी हानि हुई, इस आशय के समाचार वृत्तपत्रों में प्रकाशित हुए हैं।

यह घटना महाकाल मंदिर से कुछ ही दूरी पर स्थित बेगमबाग में हुई । इस प्रकार हिन्दूओं के परम आराध्य भगवान महाकाल की नगरी की शांति भंग करना असहनीय है। कुछ दिन पहले इसी बेगमबाग क्षेत्र में बीच रास्ते पंडाल डालकर सीएए और एनआरसी के विरोध में राष्ट्रहितविरोधी आंदोलन हुआ था। इस घटना को गंभीरता से लेते हुए सरकार और प्रशासन पत्थरबाजों पर कठोर कार्यवाही करें। पत्थरबाजी करनेवालों के पीछे कौन से समाज-उपद्रवी और लोकतंत्रविरोधी घटक हैं, इसकी भी जांच हो, ऐसी मांग हिन्दू जनजागृति समिति करती है।

पहले तो कश्मीर में धारा 370 की आड में सुरक्षाबलों पर पत्थरबाजी होती थी और आज भी कुछ मात्रा में ये घटनाएं हो रही हैं। यह पत्थरबाजी जिहादियों द्वारा बच्चे और बेरोजगार युवकों द्वारा पैसे देकर की जाती है, यह एनआइए की जांच में सिद्ध हुआ। इसके उपरान्त एनआइए द्वारा इसका बडा नेटवर्क भी ध्वस्त किया गया है। इस घटना की जांच इस दृष्टि से भी होना आवश्यक है। भविष्य में उज्जैन की स्थिति यह न बने, इसलिए षडयंत्रकारियों को ढूंढकर कडी कार्यवाही होना आवश्यक है।
– Legend News

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *