पूरे देश में पाकिस्तान के साथ खेल रिश्ते भी खत्म करने की मांग उठी

नई दिल्‍ली। पुलवामा आतंकी हमले के बाद भारत पाकिस्तान को पूरी दुनिया में अलग-थलग करने के लिए कदम उठा रहा है।
उधर BCCI भी क्रिकेट विश्वकप से पाकिस्तान को बाहर निकालने के रास्ते तलाश रहा है। पूरे देश में पाकिस्तान के साथ खेल रिश्ते भी खत्म करने की मांग उठ रही है।
कुछ मौजूदा और पूर्व खिलाड़ियों ने पाकिस्तान से क्रिकेट रिश्ते खत्म करने और वर्ल्ड कप में पाकिस्तान के साथ मैच नहीं खेलने की मांग की है। क्रिकेट को लेकर सुप्रीम कोर्ट द्वारा गठित कमेटी ऑफ एडमिनिस्ट्रेटर्स (सीओए) की शुक्रवार को होने वाली बैठक में इस मामले में कोई प्लान बन सकता है। बता दें कि वर्ल्ड कप में भारत को 16 जून को मैनचेस्टर में पाकिस्तान से मैच खेलना है।
पाकिस्तान पर ऐक्शन को BCCI हुआ ऐक्टिव
BCCI पड़ोसी देश को विश्वकप में बैन करने के लिए ऐक्टिव हो गया है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार BCCI के सीईओ राहुल जोहरी ने आईसीसी को ईमेल भेजकर पाकिस्तान को वर्ल्ड कप से बाहर किए जाने की अपील करने पर विचार कर रहा है। रिपोर्ट्स की मानें तो ईमेल में बोर्ड ने साफ किया है कि देश के अंदर पाकिस्तान के खिलाफ न खेलने का मूड है और भारत आतंकवाद के मसले पर कोई समझौता नहीं करेगा। सीओए की इस बैठक में पाकिस्तान के साथ क्रिकेट को लेकर आगे की रणनीति पर विचार किया जाएगा। इसमें केंद्रीय खेल मंत्रालय, विदेश मंत्रालय और गृह मंत्रालय से सलाह मशविरा भी किया जाएगा। BCCI इसके बाद ही पाकिस्तान के साथ क्रिकेट के भविष्य पर कदम उठाने के लिए फैसला लेगा।
गावसकर बोले-पुलवामा हमले के गुनहगार को सौंपे इमरान
उधर, पूर्व भारतीय कप्तान सुनील गावसकर ने एक चैनल से कहा कि वह चाहते हैं कि पाकिस्तान के पीएम इमरान खान दोस्ती का हाथ बढ़ाते हुए पुलवामा आतंकी हमले की साजिश में शामिल लोगों को संयुक्त राष्ट्र को सौंपे। दिग्गज ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह ने तो साफ कहा कि भारत को वर्ल्ड कप में पाकिस्तान का बायकॉट करना चाहिए।
पाकिस्तान के साथ खत्म हों खेल संबंध: गांगुली
पूर्व भारतीय कप्तान सौरभ गांगुली ने पुलवामा आतंकी हमले के मद्देनजर पाकिस्तान के साथ सभी खेल रिश्ते तोड़ने की मांग की। इस हमले में 40 सीआरपीएफ कर्मियों की मौत हो गई थी। हरभजन का समर्थन करते हुए गांगुली ने कहा कि एक मैच में पाकिस्तान के खिलाफ नहीं खेलने से भारत की संभावनाओं पर असर नहीं पड़ेगा। हालांकि गांगुली ने यह नहीं बताया कि भारत का यह विरोध एक मैच के लिए सांकेतिक होना चाहिए या पाकिस्तान के खिलाफ सेमीफाइनल या फाइनल में खेलने की स्थिति में भी भारत को मैदान पर नहीं उतरना चाहिए।
सभी खेलों पर लगे प्रतिबंध: राजीव शुक्ला
आईपीएल कमिश्नर राजीव शुक्ला ने कहा कि यदि क्रिकेट पर प्रतिबंध लगाना है तो दूसरे खेलों पर भी प्रतिबंध लगाना चाहिए। भारत और पाकिस्तान के बीच जहां तक द्विपक्षीय क्रिकेट का सवाल है वह पहले से ही बंद है। इसमें बीसीसीआई ने पॉलिसी भी बनाई है कि भारत सरकार की अनुमति से ही द्विपक्षीय क्रिकेट मैच खेले जा सकते हैं।
‘पाकिस्तान को वर्ल्ड कप से करो बाहर’
भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज और यूपी सरकार में मंत्री चेतन चौहान ने एक चैनल से कहा कि मेरा मानना है कि BCCI को आईसीसी पर दबाव बनाकर पाकिस्तान को टूर्नमेंट से बाहर कर देना चाहिए। चौहान ने कहा, ‘हमारे पास सिर्फ एक मैच में नहीं खेलने का विकल्प नहीं है, क्योंकि संभावना है कि हमारा सेमीफाइनल या फाइनल में भी सामना हो सकता है. ऐसे मामले में हमें या तो विश्व कप से हटना होगा या पूरा टूर्नामेंट खेलना होगा।’
वर्ल्ड कप में भारत-पाकिस्तान में होना है मैच
गौरतलब है कि वर्ल्ड कप में भारत को 16 जून को मैनचेस्टर में पाकिस्तान से मैच खेलना है। इस बीच बोर्ड के एक शीर्ष अधिकारी ने कहा है कि अगर सरकार वर्ल्ड कप में भारत-पाक मैच नहीं चाहेगी तो यह मैच नहीं खेला जाएगा। हालांकि अधिकारी ने आगाह किया कि अगर भारत यह मैच नहीं खेलता तो पाकिस्तान को पूरे अंक मिल जाएंगे और भारतीय टीम को नुकसान होगा।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »