Delhi-NCR में पुराने पेट्रोल और डीजल वाहनों पर लगी रोक

Delhi-NCR में 15 साल पुराने पेट्रोल और 10 साल पुराने डीजल वाहनों पर रोक के साथ परिवहन विभाग को ऐसे वाहन सड़कों पर पाए जाने पर उन्हें जब्त करने का निर्देश दिया

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने राजधानी Delhi-NCR क्षेत्र की सड़कों पर 15 साल पुराने पेट्रोल और 10 साल पुराने डीजल वाहनों के चलने पर सोमवार को प्रतिबंध लगा दिया। इसके साथ ही परिवहन विभाग को ऐसे वाहन सड़कों पर पाए जाने पर उन्हें जब्त करने का निर्देश दिया।

सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली-राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में प्रदूषण की मौजूदा स्थिति को बेहद चिंताजनक बताया और कहा कि 15 साल पुराने पेट्रोल और 10 साल पुराने डीजल वाहनों की सूची केन्द्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के परिवहन विभाग की वेबसाइट पर उपलब्ध कराई जाए।

न्यूज एजेंसी भाषा के अनुसार, कोर्ट ने कहा कि सीपीसीबी तत्काल एक सोशल मीडिया एकाउंट तैयार करेगा जिस पर नागरिक प्रदूषण के बारे में शिकायत कर सकेंगे। इससे पहले, नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल ने भी 15 साल पुराने पेट्रोल और 10 साल पुराने डीजल वाहनों के दिल्ली-राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में परिचालन पर प्रतिबंध लगा दिया था।

राजधानी दिल्ली में वायु प्रदूषण की स्थिति लगातार चिंताजनक होती जा रही है। हाल ही में केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के ओर से जारी किए गए आंकड़े के मुताबिक दिल्ली में वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 341 दर्ज किया गया। बता दें कि यह बहुत ही खराब श्रेणी में आता है। इसमें फरीदाबाद को देश में सबसे प्रदूषित शहर बताया गया था। इस अध्ययन में 70 शहरों को शामिल किया गया था। सूची में दूसरे नंबर पर गुरुग्राम था। तेजी से बढ़ते वायु प्रदूषण की स्थिति पर काबू पाने के लिए सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को बड़ा एलान किया है। सर्वोच्च न्यायालय ने सरकार को फटकार लगाते हुए 15 साल पुरानी पेट्रोल और 10 साल पुरानी डीजल गाड़ियों की सूची मांगी है।
न्यायालय ने कहा कि 15 साल पुराने पेट्रोल चालित और 10 साल पुराने डीजल चालित वाहनों की सूची केन्द्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के परिवहन विभाग की वेबसाइट पर दी जानी चाहिए। इसके साथ ही इन गाड़ियों की लिस्ट अखबार में प्रकाशित होनी चाहिए। हैरानी की बात तो ये है कि देश के सबसे प्रदूषित शहर फरीदाबाद से भी अधिक प्रदूषित दिल्ली का आनंद विहार इलाका है।यहां की हवा बेहद खतरनाक है। दिवाली से पहले ही देश में प्रदूषण के कारण हालात खराब हो चुके हैं। ऐसे में अंदाजा लगाया जा सकता है कि दिवाली के बाद स्थिति कितनी खराब हो सकती है।
– एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »