दिल्ली: 20 साल पुरानी पुरानी बिल्डिंग गिरी, चार बच्‍चों की मौत

नई दिल्ली। दिल्ली के अशोक विहार फेज-3 की सावन पार्क कॉलोनी में आज सुबह एक पुरानी बिल्डिंग ढह गई है जिसमें कई लोग दबे हैं, कई को बाहर निकाल लिया गया है और 4 बच्चों की मौत हो गई है।
गिरने वाली बिल्डिंग करीब 20 साल पुरानी बताई जा रही है, जो जर्जर हो चुकी थी। अब तक 9 लोगों को मलबे से बाहर निकाला जा चुका है, जिसमें 2 महिलाएं और 2 बच्चे हैं। दोनों बच्चों को मृत घोषित कर दिया गया है।
मलबे में 15 से ज्यादा लोग दब गए। हादसा 9:23 बजे हुआ। 11 बजे तक 9 लोगों को मलबे से निकालकर अस्पताल भिजवाया जा चुका था।
प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार अस्पताल भेजे गए ज्यादातर लोगों की हालत नाजुक नजर आई। आशंका है कि मलबे में 5-6 लोग और दबे हो सकते हैं।
घटनास्थल पर चीख-पुकार मची थी, कुछ महिलाएं अपने परिवार के सदस्यों के मलबे में दबे होने की बात कहकर चित्कार कर रही थीं। मौके पर दिल्ली फायर सर्विस, पुलिस व आपदा प्रबंधन के सदस्य बचाव कार्य में जुटे थे। कैट्स की ऐंबुलेंस के जरिए घायलों को अस्पताल ले जाया जा रहा था। चीफ फायर ऑफिसर अतुल गर्ग ने घटनास्थल से 9 लोगों को अस्पताल पहुंचाए जाने की पुष्टि की। हादसा सावन पार्क के सी-ब्लॉक में हुआ जहां बिल्डिंग नंबर-42 भरभराकर ढह गई। यह चार मंजिला बिल्डिंग बताई जा रही है इसलिए 15 से अधिक लोगों के चपेट में आने की आशंका है।
स्थानीय लोगों का कहना है कि हादसे के कुछ मिनटों तक हर तरफ धूल का गुब्बार था। तेज धमाके से बिल्डिंग गिरी थी, जिससे लोग एक बार को सकते में आ गए। धूल कुछ छंटी तो आसपास के लोग बचाव के लिए मौके पर पहुंचे। कुछ देर बाद पुलिस, दिल्ली फायर सर्विस और डिजास्टर टीम के मेम्बर पहुंच गए। कैट्स ऐंबुलेंस के लिए रास्ता खाली करवाया गया। लोगों को एक तरफ करके डिजास्टर टीम ने काम शुरू किया। शुरुआती एक-डेढ़ घंटे में 9 लोगों को बाहर निकाला गया, लेकिन उनकी हालत नाजुक नजर आ रही थी। इनमें 2 बच्चों ने पहले और दो ने बाद में दम तोड़ दिया।
एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि घायलों की हालत के बारे में अस्पताल से फिलहाल अपडेट्स नहीं मिले हैं। बचाव कार्य में जुटी एजेंसियों की प्राथमिकता मलबे में दबे लोगों को निकालना और अस्पताल पहुंचाना है। बिल्डिंग कैसे गिरी, इस बारे में बचाव कार्य पूरा होने के बाद जांच की जाएगी।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »