डा. राम बाबू Harit से मिला सिविल सोसाइटी आगरा का प्रतिनिधि मंडल

आगरा। सि‍विल सोसायटी आगरा का एक प्रति‍नि‍धि‍ मंडल प्रदेश के पूर्व स्‍वास्‍थ्‍य राज्‍य मंत्री डा राम बाबू Harit से नगला पृथ्‍वीनाथ स्थि‍त उनके नि‍वास पर मि‍ला तथा पं. दीन दयाल उपाध्‍याय के नाम पर बनने को वि‍चाराधीन सि‍वि‍ल एन्‍कलेव को लेकर वि‍स्‍तार से चर्चा कर आग्रह कि‍या कि‍ भाजपा नेता होने के नाते आगरा के वि‍कास और पर्यटन उद्योग के पूरक इस प्रोजेक्‍ट को यथाशीघ पूरा करवाने को अपने स्‍तर पर प्रयास करें।
सि‍वि‍ल सोसायटी के जर्नरल सैकेट्री अनि‍ल शर्मा ने बताया कि‍ प्रोजेक्‍ट के लि‍ये जमीन के बडे भाग का अधि‍ग्रहण हो चुका है।जब डा. Harit को मालूम हुआ कि‍ एयरपोर्ट के लि‍ये जमीन अधि‍ग्रहण का काम पूरा हो चुका है और वाऊंड्री वाल भी बनायी जा चुकी फि‍र क्‍यों इसका नि‍र्माण नहीं हो पा रहा इसका पता लगायेंगे।उन्‍होंने कहा कि‍ वह स्‍वयं भी जब तब हवाई जहाज का उपयोग करने वालों में शामि‍ल है और आगरा की एयर कनैक्‍टि‍वि‍टी को बढाये जाने की जरूरत महसूस करते हैं। वार्ता के दौरान उन्‍होंने माना कि‍ आगरा की एयरकनैक्‍टि‍वि‍टी बढने से पर्यटन उद्योग को ही नहीं मैडीकल टूरि‍ज्म को भी बढावा मि‍लेगा। अक्‍सर बाहर के लोग अन्‍य शहरों की जगह आगरा को इलाज के लि‍ये कम खर्चीला और सुवचि‍धा जनक मानते हैं और यहां आते हैं। उन्‍होंने कहा कि‍ कई होटल में तो मैडीकल पेशैंटों के लि‍ये खास व्‍यवस्‍था तक यहां उपलब्‍ध है।
उल्‍लेखनीय डा हरि‍त आगरा का तीन बार वि‍धायक के रूप में वि‍धान सभा में प्रति‍नि‍धि‍त्‍व कर चुके हैं।उनके स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री पद के कार्यकाल में पोस्‍टमार्टम को लेकर होने वाली तमाम दि‍क्‍कतें दूर हुई थीं।सप्‍ताह के सातों दि‍न पोस्‍टमार्टम के लि‍ये एक न एक डाक्‍टर की उपलब्‍धता सुनि‍श्‍चि‍त रहने का प्रावि‍धान करवाया । इसी प्रकार लीगल मैडि‍को की वि‍भागीय प्रक्रि‍या की तमाम जटि‍लतायें दूर करवायीं।

डॉ राम बाबू हरित से अपेक्षा है कि‍ अपने अनुभवों और राजनैति‍क सूझ का उपयोग कर इस आधे अधूरे छोड रखे गये प्रोजेक्‍ट अंजाम दि‍लवाने का प्रयास करें। आपको ही नहीं संघ परि‍वार के सदस्‍यों को भी पं.दीन दयाल उपाध्‍याय के नाम से जुडे इस प्र्रोजेक्‍ट को पूरा होते देख भारी संतोष होगा।

प्रतिनिधि मंडल में श्री दयाल चंद कालरा, श्री राजीव सक्सेना, श्री असलम सलीमी और अनिल शर्मा थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »