भीषण गर्मी से हो सकते हैं डिहाईड्रेशन के शिकार

चिलचिलाती धूप और भीषण गर्मी का सबसे ज्यादा असर हमारे शरीर पर पड़ता है और शरीर में पानी और नमी की कमी हो जाती है जिसे डिहाईड्रेशन भी कहते हैं। गर्मी में पसीना भी आम दिनों के मुकाबले ज्यादा निकलता है और इससे भी शरीर में पानी की कमी होने लगती है। ऐसे में अगर समय रहते इस पर ध्यान न दिया जाए तो डिहाईड्रेशन की वजह से जान को खतरा भी हो सकता है। ऐसे में लापरवाही करके बीमार पड़ने की बजाए गर्मी के मौसम में कुछ जरूरी बातों का ध्यान रखें और फिट और हेल्दी रहें।
छाछ या बटरमिल्क
शरीर को हाइड्रेटेड रखना यानी पानी की कमी होने से बचाने का सबसे अच्छा तरीका तो यही है कि आप दिनभर में 8 से 10 गिलास पानी पिएं लेकिन कई बार सादा पानी पीना काफी बोरिंग हो सकता है। ऐसे में आप चाहें तो छाछ या बटर मिल्क के ऑप्शन पर जा सकते हैं। छाछ, प्रोटीन और विटामिन्स के अलावा प्रोबायॉटिक्स से भरपूर होती है जो शरीर को हाइड्रेटेड रखती है।
आम का पन्ना
कच्चे आम को उबाल कर उसमें काला नमक, चीनी या गुड़ और पिसा हुई जीरा डालकर बनाया गया पन्ना लू लगने से बचने का सबसे बेहतर उपाय है। ये बार बार लगने वाली प्यास को खत्म कर शरीर में पानी की कमी की समस्या को भी दूर करता है।
नींबू का करें सेवन
नींबू में विटामिन सी भरपूर मात्रा में होता है। साथ ही नींबू शरीर से विषैले पदार्थों को बाहर निकालने में मददगार है। सलाद और फलों के साथ नींबू का सेवन करना अच्छा है। आप चाहें तो नींबू पानी या फिर गुनगुने पानी में नींबू डालकर भी पी सकते हैं।
संतरे का जूस
पैक्ड फ्रूट जूस पीने की बजाए ताजे संतरे का जूस निकालकर पिएं। यह सबसे हाइड्रेटिंग ड्रिंक्स में से एक माना जाता है इसलिए संतरे के जूस को गर्मी के मौसम में अपनी डायट में जरूर शामिल करें। संतरे के जूस में नेचुरल शुगर भी पायी जाती है जो बहुत अधिक गर्मी की वजह से शरीर की खोई एनर्जी को वापस पाने में मदद करता है।
पानी से भरपूर फल
शरीर में पानी की कमी की समस्या से बचना है तो गर्मी में वैसे मौसमी फलों का सेवन करें जिनमें प्राकृतिक रूप से पानी होता है। जैसे- तरबूज, खरबूज, खीरा, ककड़ी आदि। इन फलों में 90 से 95 प्रतिशत तक पानी होता है जो शरीर को हाईड्रेटेड रखने में मदद करते हैं।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »