राफेल डील पर राहुल के आरोपों का रक्षा मंत्री ने दिया तुरंत जवाब

नई दिल्ली। मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान शुक्रवार को सदन में राफेल डील पर जोरदार बहस देखने को मिली। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के गंभीर आरोपों का रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने करारा जवाब दिया। उन्होंने कहा कि 25 जनवरी 2008 को फ्रांस के साथ सीक्रेसी एग्रीमेंट कांग्रेस की ही सरकार ने किया था, हम तो इसे आगे बढ़ा रहे हैं। इस एग्रीमेंट में राफेल डील भी शामिल है।
दरअसल, राहुल गांधी ने आरोप लगाया था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दबाव में रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने राफेल डील को लेकर देश से झूठ बोला है। रक्षा मंत्री ने कहा कि जब कांग्रेस की सरकार थी उस समय तत्कालीन रक्षा मंत्री एके एंटनी ने फ्रांस की सरकार के साथ सीक्रेसी एग्रीमेंट्स किया था। उन्होंने कहा कि अब कांग्रेस के अध्यक्ष जब फ्रेंच प्रेसीडेंट से मिले तो क्या बात हुई, नहीं पता। आपको बता दें कि पूरा मामला राफेल की कीमत को लेकर है। कांग्रेस का आरोप है कि मोदी सरकार ने प्लेन की कीमत बढ़ा दी।
रक्षा मंत्री ने आगे फ्रेंच प्रेजिडेंट द्वारा एक भारतीय मीडिया समूह को दिए इंटरव्यू का हवाला देते हुए कहा, ‘सवाल का जवाब देते हुए फ्रांस के राष्ट्रपति ने साफ कहा था कि आपके साथ (भारत से) कॉमर्शियल एग्रीमेंट्स हैं और आपके पास प्रतिद्वंद्वी भी हैं और ऐसे में हम आपको डील की डीटेल नहीं दे सकते हैं।’
फ्रांस के राष्ट्रपति ने कहा था कि एग्रीमेंट्स में साफ कहा गया है कि कुछ तकनीकी मामलों के जवाब नहीं दिए जाएंगे। इंटरव्यू में फ्रेंच प्रेसीडेंट मैक्रों ने कहा था कि भारत और फ्रांस में यह डील काफी संवेदनशील है और हम बिजनेस कारणों से डीटेल नहीं बता सकते हैं।
राहुल ने क्या कहा
राहुल गांधी ने कहा कि राफेल डील में उनकी सरकार ने 520 करोड़ रुपये प्रति प्लेन में डील की थी, पता नहीं क्या हुआ किससे बात हुई और पीएम फ्रांस गए और जादू से हवाई जहाज की कीमत 1600 करोड़ प्रति प्लेन हो गई। उन्होंने कहा, ‘रक्षा मंत्री ने पहले कहा कि मैं देश को हवाई जहाज का दाम बताऊंगी उसके बाद रक्षा मंत्री ने साफ कह दिया कि मैं यह आंकड़ा नहीं दे सकती हूं क्योंकि फ्रांस और भारत की सरकार के बीच सीक्रेसी एग्रीमेंट है।’
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »