यूपी में भाजपा के संगठनात्मक चुनावों के ल‍िए तारीखों का एलान

लखनऊ। संगठन में बदलाव की तैयारी के ल‍िए लखनऊ में हुई भाजपा पदाधिकारियों की बैठक में संगठनात्मक चुनाव की तारीखों का एलान कर दिया गया है। जानकारी के मुताबिक ये चुनाव तीन चरणों में 11 सितंबर से 11 नवंबर तक होंगे।
लखनऊ में विधानसभा उपचुनाव व संगठनात्मक चुनाव को लेकर शनिवार को पार्टी पदाधिकारियों की बैठक हुई जिसमें ये निर्णय लिया गया।

11 सितंबर को बूथ अध्यक्ष, 11 अक्टूबर को मंडल व 11 नवंबर को जिला अध्यक्ष के चुनाव होंगे

बीस अगस्त को सदस्यता अभियान पूरा होने के बाद सितंबर से नवंबर के बीच चुनाव होंगे। इन चुनावों की तैयारी के लिए पार्टी ने शनिवार को बैठक बुलाई है। बैठक में भाजपा के राष्ट्रीय चुनाव अधिकारी राधा मोहन सिंह भी मौजूद रहेंगे। बैठक में सभी जिलों के पदाधिकारियों को भी बुलाया गया है।

बूथ स्तर से शुरू होंगे चुनाव

भाजपा ने अभियान के जरिए प्रदेश में 50 लाख से ज्यादा नए सदस्य बना लिए हैं। अब पार्टी ने 80 लाख तक सदस्य बनाने का लक्ष्य रखा है। सदस्य बना लेने के बाद हर जिले में चुनाव होंगे। पार्टी ने इसके लिए भाजपा की संगठनात्मक दृष्टि से बनाए गए 94 जिलों में जिला चुनाव अधिकारी, जिलाध्यक्ष और जिला प्रभारियों को जिम्मेदारी दी है। भाजपा के चुनाव बूथ स्तर से शुरू होंगे। इनमें पहले बूथ स्तर पर पदाधिकारियों का चुनाव, फिर मंडल स्तर पर और इसके बाद जिला स्तर पर पदाधिकारी चुने जाएंगे। जिला स्तर पर पदाधिकारियों का चयन होने के बाद प्रदेश संगठन के चुनाव होंगे।

1.30 करोड़ पहुंच गई सदस्यता

शनिवार को बुलाई गई बैठक भाजपा मुख्यालय में दोपहर 12 बजे शुरू होगी। इसमें बूथ समिति से लेकर जिलास्तर तक के चुनाव का खाका तैयार किया जाएगा। भाजपा के प्रदेश में 1.30 करोड़ सदस्य बन चुके हैं। इनमें नए सदस्यों की संख्या ही 50 लाख का आंकड़ा पार कर चुकी है। ये सदस्य अलग-अलग स्तर पर चुनाव में भाग लेंगे। शनिवार को बैठक में इस पूरी चुनाव प्रक्रिया पर मंथन होगा। बैठक में प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह, संगठन महामं‌त्री सुनील बंसल, महामंत्री गोविंद नारायण शुक्ला, उपाध्यक्ष जेपीएस राठौर समेत कई पदाधिकारी मौजूद रहेंगे।

उपचुनाव की तैयारियों पर भी होगा मंथन

भाजपा मुख्यालय पर शनिवार को प्रदेश अध्यक्ष सभी पार्टी पदाधिकारियों के साथ बैठेंगे। वह सभी के साथ मिलकर संगठन चुनाव और विधानसभा उपचुनाव पर भी मंथन करेंगे। लोकसभा चुनाव के बाद अब 12 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव होने हैं। ये चुनाव भी अक्टूबर-नवंबर में प्रस्तावित हैं। उपचुनाव को लेकर सभी सीटों पर मंत्रियों को प्रभारी बनाया जा चुका है। इसके अलावा जीते हुए सांसदों और पार्टी के पदाधिकारियों को भी उपचुनाव की तैयारी की जिम्मेदारियां दी जा चुकी हैं। खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उपचुनाव का जिम्मा संभाल रखा है और वह विधानसभा उपचुनाव की सभी सीटों का दौरा भी कर रहे हैं। पश्चिम की कई सीटों पर उनका दौरा हो भी चुका है। अब तक हुई तैयारियों की रिपोर्ट इस बैठक में रखी जाएगी। इसके बाद सभी बूथ स्तर तक के कार्यकर्ताओं को उपचुनाव में जुटाया जाएगा। उपचुनाव के लिए प्रत्याशियों के चयन की प्रक्रिया भी शुरू की जाएगी। संभावित प्रत्याशियों के नाम पर भी मंथन शनिवार की बैठक में किया जा सकता है। पार्टी संगठन ने उपचुनाव की सभी सीटों को जीतने का जिम्मा लिया है। इसके लिए कार्यकर्ताओं को जुटाया जाएगा। शनिवार को बैठक में उपचुनाव की रणनीति का खाका भी तैयार होगा।

-Legend News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »