डे-नाइट टेस्ट: तेज गेंदबाज रहे हिट, स्पिनर्स को पेसर्स ने पीछे छोड़ा

अहमदाबाद। अहमदाबाद के मोटेरा स्टेडियम में भारत और इंग्लैंड टीम पहली बार डे-नाइट टेस्ट के ल‍िए 24 फरवरी को आमने सामने रहेंगी। मैच में दोनों टीम के बल्लेबाज और तेज गेंदबाजों के बीच रोमांच देखने को मिलेगा। इसका सबसे बड़ा कारण यह भी है कि अब तक हुए 15 पिंक बॉल टेस्ट में स्पिनर्स के मुकाबले तेज गेंदबाजों ने 239 ज्यादा विकेट लिए हैं।

पहला डे-नाइट टेस्ट नवंबर 2015 को खेला गया था। इसमें ऑस्ट्रेलिया ने न्यूजीलैंड को 3 विकेट से शिकस्त दी थी। तब से अब तक 15 टेस्ट में 71 तेज गेंदबाजों ने सबसे ज्यादा 354 विकेट लिए हैं। 74 स्पिनर्स ने मिलकर कुल 115 विकेट लिए हैं। स्पिनर्स के मुकाबले पेसर्स ने 207% ज्यादा विकेट लिए हैं।

फास्ट बॉलर्स का इकोनॉमी रेट भी कम
डे-नाइट टेस्ट में कम रन खर्च करने के मामले में भी तेज गेंदबाज काफी आगे हैं। उन्होंने अब तक 667 मेडन ओवर किए हैं। इकोनॉमी रेट 2.94 का रहा। वहीं, स्पिनर्स ने 179 मेडन ओवर किए हैं। इकोनॉमी रेट 3.25 का रहा।

टीम इंडिया का घर में दूसरा डे-नाइट टेस्ट
इंग्लैंड के खिलाफ भारत का ओवरऑल तीसरा डे-नाइट टेस्ट होगा। टीम इंडिया ने अब तक 2 में से एक मैच जीता और एक हारा है। अपने घर में भारत ने एक पिंक बॉल टेस्ट खेला है, जिसमें बांग्लादेश को पारी और 46 रन से हराया था। दूसरा टेस्ट एडिलेड में खेला था, जिसमें ऑस्ट्रेलिया 8 विकेट से जीती थी।

भारतीय स्पिनर्स को घर में अब तक विकेट नहीं मिल सका है। बांग्लादेश के खिलाफ सभी 19 विकेट तेज गेंदबाजों ने लिए थे। इंग्लैंड का ओवरऑल चौथा पिंक बॉल टेस्ट है। उसने एक मैच घर में खेला, जिसमें जीत मिली थी। इंग्लिश टीम ने 2 डे-नाइट टेस्ट विदेशी जमीन पर खेले और सभी में हार मिली।
– एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *