प्रणब दा के आरएसएस के कार्यक्रम में जाने से बेटी नाराज़

Daughter annoyed after Pranab da going to the RSS program
प्रणब दा के आरएसएस के कार्यक्रम में जाने से बेटी नाराज़

नई दिल्‍ली। पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के आरएसएस के कार्यक्रम में हिस्सा लेने से पहले उनकी बेटी ने अपनी नाराज़गी जाहिर की है.
प्रणब मुखर्जी की बेटी और दिल्ली कांग्रेस की प्रवक्ता शर्मिष्ठा मुखर्जी ने पूर्व राष्ट्रपति के इस दौरे को भगवा विचारधारा को बढ़ावा देने वाला कदम बताया है.
शर्मिष्ठा मुखर्जी ने इस संबंध में बुधवार ट्वीट किया और अपनी नाराज़गी जाहिर की.
अपने ट्वीट में उन्होंने लिखा, “खुद आरएसएस को इस बात पर विश्वास नहीं कि आप उनके विचारों को अपने भाषण के जरिए बढ़ावा देने वाले हैं. भाषण तो लोग भूल जाएंगे लेकिन तस्वीरें हमेशा बरकरार रहेंगी और उन्हें गलत बयानों के साथ बाद में फैलाया जाएगा.”
उधर संघ के विचाराकों का कहना है कि दुनिया के दूसरे हिस्सों में ऐसा कोई संगठन देखने को नहीं मिलता जो बुनियादी ढांचे और कार्यशैली में आरएसएस यानी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ जैसा हो.
सांस्कृतिक संगठन के बतौर शुरू हुए संघ का दर्शन हिंदू राष्ट्रवाद है. संघ के मुताबिक़ हिंदू कोई जातिसूचक शब्द नहीं बल्कि भारत में रहने वालों को हिंदू कहा जाना चाहिए.
संघ के दूसरे प्रमुख गोलवलकर का मानना था कि भारत को मज़बूत राष्ट्र में बदलने के लिए हिंदू एकीकरण और पुनरुत्थान की ज़रूरत है ताकि वो दुनिया के कल्याण में अपना योगदान दे सकें.
ग़ैर हिंदुओं को गोलवलकर समान नागरिक अधिकार देने के ख़िलाफ़ थे. हालांकि बाद में संघ के राजनीतिक धड़े भारतीय जनता पार्टी के कई नेताओं ने इससे दूरी बना ली थी.
संघ का यक़ीन राजनीति या सत्ता हासिल करने में भी नहीं था. बाद में सत्ता को लेकर विचार भी बदल गए.
-BBC

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »