ओडिशा में तबाही मचा Cyclone Fani अब यूपी, बिहार व दिल्‍ली एनसीआर में

नई दिल्ली। Cyclone Fani ने दिन में ओडिशा में तबाही मचाने के बाद शाम को यूपी, बिहार व दिल्ली-एनसीआर के इलाकों में जबरदस्त दस्तक दी है। इसकी वजह से देश के अन्य राज्यों में भी तेज हवाएं और बारिश शुरू हो गई है। कई इलाकों में शाम पांच बजे से ही गहरा अंधेरा छा गया था।

चक्रवाती Cyclone Fani ने ओडिशा के तट से टकराने के बाद काफी कहर बरपाया है। तेज हवाओं के कारण जगह-जगह पेड़ उखड़ गए हैं। कुछ जगहों पर गाड़ियां हवा में उड़ती दिखीं। तूफान के दौरान अलग-अलग जगह पर तीन महिलाओं की मौत हो गई। कई जगहों पर तूफान ने भारी तबाही मचाई है, जिसका पहले से ही अनुमान लगा लिया गया था। समय से राहत-बचाव कार्य की तैयारी शुरू होने की वजह से जान-माल का नुकसान बहुत कम हुआ है। तूफान की वजह से भुवनेश्वर स्थित बीजू पटनायक अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा भी बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया है।

हैदराबाद के मौसम विभाग ने बताया कि ओडिशा के तटीय क्षेत्र से टकराने पर यहां 245 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से हवाएं चलीं। इस बीच लगातार हो रही बारिश के कारण जन-जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। लगभग 11 लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भेजा गया है। आपदा प्रबंधन की टीम तूफान से निपटने के लिए तैयार है। Cyclone Fani की वजह से रेल, सड़क और हवाई यातायात पर प्रभाव पड़ा है।

कोलकाता एयरपोर्ट अथॉरिटी ने एक बयान जारी कर बताया है कि यहां आने-जाने वाली फ्लाइट्स शुक्रवार दोपहर 3 बजे से लेकर शनिवार सुबह 8 बजे तक के लिए रद कर दी गई हैं। 100 से ज्‍यादा ट्रेन रद हुई हैं। पिछले 43 सालों में मई माह में भारत के पड़ोसी समुद्री क्षेत्र में उठा इतनी तीव्रता का यह पहला तूफान है। 160 मिली लीटर से ज्‍यादा बारिश भुवनेश्‍वर में अभी तक हो चुकी है। हजारों पेड़ उखड़ गए हैं। कच्‍चे घरों को काफी नुकसान पहुंचा है।

नागरिक उड्डयन मंत्री सुरेश प्रभु ने उड्डयन सचिव को प्रभावित एरिया की स्थिति पर लगातार नजर रखने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि जब भी जरूरत पड़े डीजीसीए (नागरिक उड्डयन महानिदेशालय) एयरलाइंस कंपनियों को नई एडवाइजरी जारी करे। यात्रियों की सुरक्षा के लिए हर संभव प्रयास किए जाएं। साथ ही उनकी सुविधाओं का भी ख्याल रखा जाए।

ओडिशा में कोस्ट गार्डस के हेलिकॉप्टरों में राहत व बचाव समग्री लादने क काम शुरू कर दिया गया है। कोस्ट गार्ड के पायलटों को हेलिकॉप्टर के जरिए ये राहत सामग्री प्रभावित इलाकों में पहुंचानी है।

इस बीच खराब मौसम के कारण भारतीय जनता पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने आज झारखंड में अपनी सभी ती चुनाव प्रचार रैलियों को रद कर दिया।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »