Cyber Crime: कर्नाटक और उप्र में सबसे ज्यादा केस, 82 फीसदी बढ़े मामले

नई द‍िल्ली। नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो (NCRB) द्वारा जारी आंकड़े चौकाने वाले हैं। NCRB की रिपोर्ट बताती है कि पिछले साल देश में सबसे ज्यादा साइबर क्राइम के मामले दर्ज किए गए हैं। 2019 में साइबर क्राइम के करीब 44,546 मामले सामने आए हैं।

साल 2018 में यह आंकडे करीब 28248 के आसपास थी। इस हिसाब से साइबर क्राइम के मामले में पिछले साल 64% की बढ़ोतरी हुई है। वहीं, साल 2017 में साइबर क्राइम के 21,796 मामले दर्ज किए गए थे।

शहरी इलाकों में ज्यादा मामले

रिपोर्ट के अनुसार, साइबर क्राइम के मामले ग्रामीण इलाकों से ज्यादा शहरी इलाकों से दर्ज किए गए हैं। देश के शहरी इलाके में साइबर क्राइम के मामले 82 फीसदी बढ़े हैं। रिपोर्ट में कहा गया है कि 2018 में भारत के शहरी इलाके में साइबर क्राइम के 18,732 मामले दर्ज किए गए थे।

अधिकतर मामले कर्नाटक से आए

NCRB की रिपोर्ट की माने तो पिछले साल सबसे ज्यादा साइबर क्राइम के मामले कर्नाटक से दर्ज किए गए हैं। यहां से करीब 12,000 से अधिक केस दर्ज किए गए हैं। इसके बाद उत्तर प्रदेश से करीब 11416 दर्ज किए गए। इसी तरह महाराष्ट्र में करीब 5000 साइबर क्राइम के केस दर्ज हुए। मुंबई में साइबर क्राइम के मामलों में 45 फीसदी की बढ़ोतरी का खुलासा रिपोर्ट में हुआ है। जबकि महिलाओं, बच्चों और बुजुर्गों के साथ होने वाले आपराधिक मामले भी 7.3% ,4.4% और 13.6% बढ़े हैं।

जानिए सबसे ज्यादा किस तरह के मामले मिले हैं

रिपोर्ट में जारी आंकड़े बताते हैं कि 2019 में सबसे ज्यादा साइबर क्राइम दर्ज हुए हैं उसमें 60 फीसदी केस फ्रॉड का था। 5 फीसदी केस फिजिकल एब्यूज का रहा। वहीं, 4 फीसदी दुश्मनी में इमेज खराब करने के मकसद से किया गया क्राइम रहा। 3 फीसदी के करीब प्रैंक के रहे। इतना ही नहीं करीब 1200 से ज्यादा मामले ऐसे रहें जो कि पर्सनल खुन्नस की वजह से किए गए थे। गुस्से में किए गए 581 केस दर्ज हैं। टेरर फंडिंग से संबंधित करीब 200 केस सामने आए हैं।

ऐसे मामलों में आप साइबर अपराधों की जांच और कार्रवाई करने वाली एजेंसियों से संपर्क कर सकते हैं। आप इन दो जगहों पर शिकायत कर सकते हैं – पहला, अपने राज्य की पुलिस की साइबर क्राइम सेल और दूसरा भारत सरकार की वह हाई लेवल एजेंसी, जो साइबर चुनौतियों के मामले देखती है। उसका नाम है – सेंट्रल इमर्जेंसी रिस्पॉन्स टीम (CERT-In)। तीसरा, केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) का साइबर क्राइम इन्वेस्टिगेशन सेल, जिसके काम-काज का दायरा पूरा भारत है।
– Legend News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *