शहीदों के सम्मान में सांस्कृतिक कार्यक्रम निरस्त, मेधावी हुये पुरस्कृत

मथुरा। आतंकवादियों द्वारा केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल पर कश्मीर में हुए हमले से स्तब्ध माँट, मथुरा के राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय परिवार ने आज 15 फरवरी को होने वाले वार्षिक समारोह का सांस्कृतिक कार्यक्रम निरस्त कर दिया। इस अवसर पर मात्र पुरस्कार वितरण किया गया। मेधावी छात्र-छात्राओं को केवल वार्षिक पुरस्कार वितरित किये गए।

कार्यक्रम में आमंत्रित मुख्य अतिथि प्रो. के.एम.एल. पाठक (कुलपति, उ. प्र. पं. दीन दयाल उपाध्याय पशु चिकित्सा विज्ञान विश्वविद्यालय एवं गौ अनुसंधान संस्थान, मथुरा) एवं डॉ. बृजेश कुमार सिंह (एस.पी. ट्रैफिक, मथुरा) , विशिष्ट अतिथि डॉ. अरुण वाजपेयी (प्राचार्य, अमरनाथ विद्या आश्रम), महाविद्यालय प्राचार्य डॉ. मीनाक्षी वाजपेयी, प्राध्यापकों, विद्यार्थियों, कर्मचारियों, पत्रकारों आदि की उपस्थिति में शहीदों के प्रति श्रद्धांजलि सभा आयोजित की गई जिसमें वक्ताओं ने राष्ट्र के शहीदों के प्रति अपने भावुक उद्गार व्यक्त किये तथा दो मिनट का मौन धारण कर दिवंगत आत्माओं की शांति के लिए प्रार्थना की।

प्रो. के.एम.एल. पाठक ने राजकीय महाविद्यालय में मेधावी विद्यार्थियों को पुरस्कृत करते हुये कहा कि यह महाविद्यालय ग्रामीण क्षेत्र में होने के बावजूद सर्वोत्तम कार्य कर रहा है । एस.पी. ट्रैफिक श्री ब्रजेश कुमार सिंह ने भी सभी को वार्षिकोत्सव की बधाई दी।

अतिथियों ने अपने करकमलों से राजकीय महाविद्यालय में सत्र 2018-19 के स्पोट्र्स चैम्पियन कु. रेनू व प्रवीण कुमार को प्रमाणपत्र व ट्रॉफी प्रदान कर पुरस्कृत किया।

पुरस्कार वितरण समारोह में वार्षिक खेल पुरस्कार, साहित्यक-सांस्कृतिक, एन.एस.एस. तथा विभिन्न विभागों द्वारा आयोजित प्रतियोगिताओं से सम्बद्ध परिषदीय पुरस्कारों को छात्र-छात्राओं के लिये अतिथियों द्वारा वितरण किया गया ।

इस अवसर पर महाविद्यालय के प्राचार्या डा. मीनाक्षी वाजपेयी ने वार्षिकोत्सव तथा पुरस्कार वितरण समारोह में पधारे सभी अतिथियों का स्वागत करते हुये महाविद्यालय की वार्षिक गतिविधियों को संक्षेप में बताया। उन्होंने कहा कि वार्षिकोत्सव को छात्र-छात्राओं की विभिन्न कलात्मक, अकादमिक एवं खेल प्रतिभाओं की सम्पूर्ण अभिव्यक्ति का अवसर बताया ।

कार्यक्रम का संयोजन एवं संचालन डॉ. प्रिया मित्तल ने किया। इस अवसर पर डॉ. सुरेन्द्र सिंह, डॉ. जीत सिंह, डॉ. अरुण कुमार, डॉ. धर्मवीर सिंह, डॉ. नेत्रपाल सिंह, डॉ. विक्रान्त सिंह, डॉ. सुमित चन्द्र, डॉ. दीन दयाल, डॉ. नीलम कुरील, डॉ. राजेश कुमार, डॉ. चन्द्रशेखर दिवाकर, डॉ. सत्येन्द्र सिंह, डॉ. हरीश वर्मा, डॉ. रामवीर सिंह आदि उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »