प्रयाग कुंभ मेले में ड्यूटी के लिए तलाशे जा रहे हैं संस्‍कारी पुलिसकर्मी

2019 के कुंभ मेले में आने वाले श्रद्धालुओं की धार्मिक भावनाओं को ध्यान में रखते हुए इलाहाबाद जिला प्रशासन ने फैसला किया है कि मेले में उन्हीं पुलिस वालों की ड्यूटी लगाई जाएगी, जो मांसाहारी न हों, शराब व धूम्रपान का सेवन नहीं करते और मृदुभाषी भी हों.
इतना ही नहीं, विश्व के सबसे बड़े धार्मिक मेले में ड्यूटी करने वाले इन पुलिसवालों का इंटरव्यू एसएसपी लेंगे और उन्हें अच्छे चरित्र का प्रमाण पत्र भी देंगे.
गुरुवार को डीआईजी कुंभ केपी सिंह ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि ” शाहजहांपुर, पीलीभीत, बरेली और बदायूं के साथ अन्य जिलों के एसएसपी को निर्देश दिया गया है कि वे उन पुलिसकर्मियों के चरित्र की जांच करें जिनकी ड्यूटी कुंभ मेले में लगाई गई है. पुलिस विभाग द्वारा पहले ही स्पष्ट कर दिया गया है कि ड्यूटी के लिए उन्हीं पुलिस वालों की जरूरत है जो मांस, शराब, धूम्रपान नहीं करते. साथ ही स्वभाव से मृदुभाषी हैं. हमने पुलिस कप्तानों को पत्र लिखकर कहा है कि वे खुद अपने स्तर से पुलिसकर्मियों का इंटरव्यू लें.”
इसके अलावा पुलिस विभाग यह भी देख रहा है कि जिसकी ड्यूटी कुंभ में लगाई जा रही है, उसका निवास इलाहाबाद में न हो. साथ ही मेले में एक खास उम्र के पुलिस कर्मियों की ही तैनाती होगी. मसलन कांस्टेबल के लिए उम्र सीमा 35 साल है, हेड कांस्टेबल के लिए 40 और सब इंस्पेक्टर की 45 साल तय की गई है.
कुंभ मेले में पुलिस वालों की ड्यूटी चार चरणों में लगाई जाएगी. पहले चरण की शुरुआत 10 अक्टूबर से होगी. पहले चरण में 10 फ़ीसदी पुलिसकर्मियों की तैनाती होगी. नवंबर में दूसरे चरण के दौरान 40 फीसदी पुलिसकर्मियों की तैनाती होगी. तीसरे और चौथे चरण की तैनाती दिसम्बर में होगी. इस दौरान करीब 25 फ़ीसदी पुलिसकर्मियों के साथ पैरामिलिट्री फोर्स की भी तैनाती की जाएगी.
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »