क्रिप्टोकरेंसी: एक बिटकॉइन में 175% की रिकॉर्ड बढ़ोतरी

नई द‍िल्ली। क्रिप्टोकरेंसी बिटकॉइन इस साल रिकॉर्ड बढ़ोतरी के साथ 9% की बढ़ोतरी दर्ज हुई। इसके साथ ही यह 19,860 डॉलर यानी करीब 14 लाख 62 हजार रुपए प्रति यूनिट के इस साल के रिकॉर्ड हाई लेवल पर पहुंच गया है। इससे पहले, दिसंबर 2017 में बिटकॉइन 19,873 डॉलर प्रति यूनिट तक पहुंचा था। यानी तब के हिसाब से एक बिटकॉइन की कीमत करीब 13 लाख रुपए थी।

2020 में अब तक 175% की ग्रोथ

बिटकॉइन के लिए 2020 काफी ग्रोथ वाला साबित हुआ है। इस साल अब तक इसकी कीमत 175% बढ़ चुकी है। कोरोना के बाद मार्च में बिटकॉइन की कीमत 4000 डॉलर प्रति यूनिट के नीचे चली गई थी। लेकिन, अब डॉलर के कमजोर होने की वजह से बिटकॉइन ने तेजी से वापसी की है। अमेरिका की ब्रोकरेज और ट्रेडिंग फर्म eToro के मैनेजिंग डायरेक्टर गे हिर्ष का कहना है- इंडिविजुअल और असेट मैनेजर बड़ी संख्या में बिटकॉइन की खरीदारी कर रहे हैं। इस समय करीब 365 बिलियन डॉलर के बिटकॉइन सर्कुलेशन में हैं।

क्रिप्टोकरेंसी में तेजी की एक वजह ये भी

दुनिया की सबसे बड़ी असेट मैनेजमेंट फर्म ब्लैकरॉक (BLK) ने अनुमान जताया है कि सेफ हेवन चॉइस के तौर पर बिटकॉइन एक दिन गोल्ड की जगह ले सकता है। इसे भी बिटकॉइन की कीमतों में तेजी की वजह माना जा रहा है। छोटी क्रिप्टोकरेंसी में शुमार इथेरियम, XRP, लाइटकॉइन और स्टेलर की कीमतों में बढ़ोतरी की वजह से भी बिटकॉइन में तेजी आ रही है।

2008 में हुई थी बिटकॉइन की खोज

बिटकॉइन की खोज 2008 में हुई थी। आधिकारिक रूप से बिटकॉइन 2009 में लॉन्च हुआ था। भारत में अभी बिटकॉइन समेत किसी भी क्रिप्टोकरेंसी को कानूनी मान्यता नहीं मिली है।
– एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *