Vrindavan में ड्यूटी के दौरान CRPF जवान ने खुद को गोली मारी, मौत

वृंदावन। Vrindavan में पवन हंस हेलीपैड के निकट शुक्रवार की सुबह कैंप में पहरा दे रहे सीआरपीफ के जवान ने इनसास रायफल से खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली। जवान ने रायफल को ठोड़ी के नीचे सटाकर गोली चलाई।

इनसास रायफल के ब्रस्ट फायर से एक बार में तीन गोलियां निकलीं, जिससे चेहरे के चीथड़े उड़ गए। घटना से Vrindavan के सीआरपीएफ कैंप में हड़कंप मच गया। जवान के शव को पोस्टमार्टम के लिए मथुरा भेजा गया। अधिकारियों के अनुसार जवान पारिवारिक कारणों से परेशान था जिस कारण उसने यह कदम उठाया। बताया जाता है कि जवान द्वारा पूर्व में अतिरिक्त अवकाश लिए जाने के कारण उसके खिलाफ जांच चल रही थी। वहीं यह भी चर्चा है कि उसकी पत्नी एवं मां के बीच विवाद चल रहा था और उसकी पत्नी अपने बच्चे को लेकर मायके रह रही थी जिसके बारे में वह कैंप में अक्सर जिक्र भी किया करता था। आशंका जताई जा रही है कि इन्हीं कारणों के चलते जवान ने यह कदम उठाया है।

पुणे महाराष्ट्र के सिरूर गोदनाड़ी थाना अंतर्गत गांव रामलिंगम निवासी चाबुक संतोष देवराम (42) पुत्र स्व. देवराम गनपत चाबुकेश्वर 16 बीएन सीआरपीएफ अल्फा कंपनी में आरक्षी (नंबर 031487179) के पद पर तैनात था।

चेहरे के उड़े चीथड़े
29 दिसंबर में कंपनी कश्मीर से वृंदावन पहुंची। वृंदावन में पवन हंस हेलीपैड के निकट सीआरपीफ कैंप पर चाबुक संतोष देवराम की सुबह नौ बजे से ग्यारह बजे तक पहरे की ड्यूटी थी। सुबह करीब नौ बजे चाबुक संतोष देवराम ने इनसास रायफल ठोड़ी पर लगाकर ब्रस्ट फायर कर दिया।

एक बार में तीन गोलियां चलने से जवान के चेहरे के चीथड़े उड़ गए और वो वहीं गिर गया। इससे कैंप में हड़कंप मच गया। सीआरपीएफ के अन्य जवान व अधिकारी मौके पर पहुंच गए। सूचना मिलने पर सीओ सदर रमेश कुमार तिवारी और कोतवाली प्रभारी संजीव कुमार दुबे भी वहां पहुंचे।

जवान के शव को पोस्टमार्टम के लिए मथुरा भेजा। सीओ सदर ने बताया कि जवान पारिवारिक कारणों से परेशान था। घर जाने को छुट्टी के लिए भी उसने आवेदन किया था। कंपनी सीओ एके सिंह का कहना है कि घटना की जांच की जा रही है।
– एजेंसी

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *