कोर्ट ने तरुण तेजपाल पर rape मामले में मुकद्दमा चलाने का आदेश दिया

नई दिल्ली। कोर्ट ने तरुण तेजपाल पर rape मामले में मुकद्दमा चलाने का आदेश दिया। तहलका मैगजीन के पूर्व संपादक तरुण तेजपाल को यौन शोषण मामले में बड़ा झटका लगा है। कोर्ट ने तेजपाल पर रेप मामले में मुकद्दमा चलाने का आदेश दिया है। कोर्ट ने आज कहा कि तरुण तेजपाल पर 28 सितंबर को आरोप तय किए जाएंगे और उनके खिलाफ मुकद्दमा चलेगा। बता दें कि तरुण तेजपाल पर सीआरपीसी की सेक्शन 327(2) के तहत मुकद्दमा चल रहा है। फिलहाल तरुण तेजपाल जमानत पर हैं। तेजपाल आज पेशी के लिए कोर्ट में पहुंचे थे। महिला ने कोर्ट में कहा था कि तेजपाल की सुनावई कैमरे के सामने हो जिसे कोर्ट ने मान लिया था। आज कैमरे के सामने ही तेजपाल की सुनवाई हुई।

ये है मामला
खोजी पत्रिका तहलका की मैनेजिंग एडिटर शोमा चौधरी को मैगजीन की ही एक महिला पत्रकार का ई-मेल लीक हुआ। इस ई मेल में तहलका के संपादक और एडिटर-इन-चीफ तरुण तेजपाल पर बेहद संगीन आरोप लगाए गए थे। महिला पत्रकार ने आरोप लगाया कि तरुण तेजपाल ने गोवा के एक होटल में तहलका के एक कार्यक्रम के दौरान 7 और 8 नवंबर 2011 को 2 बार उसका यौन शोषण किया। आरोप ये भी था कि उन्होंने पीड़ित को धमकी दी कि किसी से इस बारे में जिक्र करने पर उसकी नौकरी खतरे में पड़ सकती है।

आनन-फानन में तहलका मैनेजमेंट ने तरुण तेजपाल की तरफ से अपने कर्मचारियों को एक ई-मेल जारी कर पीड़ित से माफी मांगी और बतौर प्रायश्चित तहलका से छह महीने के लिए खुद को अलग कर लिया। ये ईमेल भी मीडिया में लीक हुआ। आरोप लगे कि शुरू में तहलका प्रबंधन ने इस पूरे मामले को अंदरुनी बताकर दबाने की कोशिश की। कठघरे में तहलका की मैनेजिंग एडिटर शोमा चौधरी भी आईं। मीडिया में मामला आने के बाद गोवा सरकार हरकत में आ गई।

गोवा पुलिस ने खबरों का स्वत: संज्ञान लेते हुए तेजपाल पर rape का मामला दर्ज कर लिया और तेजपाल को गिरफ्तार किया गया।
-एजेंसी