देश के पहली प्राइवेट ट्रेन फिर दौड़ने को तैयार, एक स्‍टॉपेज भी बढ़ा

नई दिल्‍ली। कोरोना काल में देश के पहली प्राइवेट ट्रेन तेजस एक्सप्रेस एक बार फिर से चलने को तैयार हो रही है। इस बीच इसे चलाने वाली कंपनी आईआरसीटीसी ने मुंबई से अहमदाबाद के बीच चलने वाली तेजस एक्सप्रेस में एक और स्टॉपेज देने की घोषणा की है। अब यह ट्रेन मुंबई के अंधेरी स्टेशन पर भी रुकेगी।
कोरोना की वजह से ठहराव
रेल मंत्रालय की कंपनी इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन (IRCTC) से मिली जानकारी के अनुसार कोरोना के प्रकोप को देखते हुए यह फैसला किया गया है। कंपनी का कहना है कि कोरोना काल में मुसाफिरों को बेवजह अधिक दूर तक सफर नहीं करना पड़े, इसके लिए ट्रेन को उनके घर के आसपास ही ठहराव दिया जा रहा है। इसी के तहत अहमदाबाद-मुंबई तेजस एक्सप्रेस को मुंबई के अंधेरी स्टेशन पर भी रोकने का फैसला किया गया है।
कितने समय के लिए होगा स्टॉपेज
आईआरसीटीसी के मुताबिक अहमदाबाद से मुंबई जाने के दौरान यह ट्रेन मुम्बई के अंधेरी स्टेशन में दोपहर 12.41 बजे ठहरेगी जबकि मुम्बई से अहमदाबाद के लिए जाने के दौरान दोपहर 15:58 बजे अंधेरी स्टेशन पर रुकेगी। इससे पहले तेजस एक्सप्रेस का ठहराव नाडियाड, वडोदरा, भरूच, सूरत, वापी और बोरीवली स्टेशनों पर था। वहां पहले की तरह और पूर्व निधारित समय सारिणी के अनुसार ही ट्रेन पहुंचती और ठहरती रहेगी।
अहमदाबाद से मुंबई रूट पर किराया
रेलवे ने पहले ही जो किराया नोटिफाई किया है, उसके मुताबिक अहमदाबाद से मुंबई के बीच एग्जिक्यूटिव चेयर कार का किराया 2384 रुपये है। इसमें बेस फेयर 1875 रुपये, जीएसटी 94 रुपये और कैटरिंग चार्ज 415 रुपये शामिल है। एसी चेयर कार का किराया 1289 रुपये है, जिसमें बेस फेयर 870 रुपये, जीएसटी 44 रुपये और कैटरिंग चार्ज 375 रुपये शामिल है। मुंबई-अहमदाबाद के बीच एग्जिक्यूटिव चेयर कार का किराया 2374 रुपये है, जिसमें 1875 रुपये बेस फेयर, 94 रुपये जीएसटी और कैटरिंग चार्ज 405 रुपये शामिल है। वहीं, एसी चेयर कार का किराया 1274 रुपये है, जिसमें 870 रुपये बेस फेयर, 44 रुपये जीएसटी और 360 रुपये कैटरिंग चार्ज के तौर पर शामिल हैं।
देश की पहली प्राइवेट ट्रेन
उल्लेखनीय है कि तेजस एक्सप्रेस देश की पहली प्राइवेट ट्रेन है। वैसे तो देश में सभी ट्रेनों को भारतीय रेलवे चलाता है। लेकिन, तेजस पहली ट्रेन है जिसे IRCTC चलाती है। तेजस में कुल 758 सीटें हैं, जिनमें 56 सीटें एग्जिक्यूटिव क्लास की और बाकी सीटें एसी चेयर क्लास की हैं। इस ट्रेन के यात्रियों का अनिवार्य रूप से 25 लाख रुपये का ट्रैवल इंश्योरेंस कराया जाता है। मतलब कि इस ट्रेन में यात्री की किसी वजह से जान जाती है तो उसे 25 लाख रुपये का मुआवजा मिलेगा।
सामान चोरी होने पर भी मुआवजा
इसमें यात्रा के दौरान सामान खोने या चोरी होने पर 1 लाख रुपये तक का इंश्योरेंस भी शामिल है। साथ ही, इसमें फ्लाइट की तरह फीमेल अटेंडेंट भी होंगी, जो यात्रियों को उनकी सीट पर ही जाकर चाय/कॉफी, खाना और दूसरी चीजें देंगी। इसी के तहत IRCTC पहली बार ट्रेन लेट होने पर यात्रियों को मुआवजा भी ऑफर कर रही है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *