एक मोहल्ला और एक कॉलोनी से भी कम आबादी वाले देश हैं दुनिया में

हर साल 11 जुलाई को विश्व जनसंख्या दिवस मनाया जाता है। इसका मकसद लोगों को आबादी से संबंधित समस्याओं से आगाह कराना है।
आइए आज इस मौके पर हम दुनिया के उन देशों के बारे में जानते हैं जहां की आबादी बहुत कम है। इनमें से एक देश की आबादी तो एक मोहल्ले की आबादी से भी कम है।
वेटिकन सिटी
2017 की जनगणना के मुताबिक वेटिकन सिटी की आबादी 1000 से भी कम थी। वेटिकन सिटी क्षेत्रफल के मामले में भी दुनिया का सबसे छोटा देश है। इसका क्षेत्रफल करीब 0.17 वर्ग मील यानी करीब 0.44 वर्ग किलोमीटर है। यह इटली के रोम शहर में है जिसके शासन की बागडोर पोप के हाथ में है।
तुवालु
साल 2017 में इसकी आबादी 11,192 थी। तुवालु द्वीप दुनिया का दूसरा देश है जिसकी आबादी बहुत कम है। तुवालु मध्य प्रशांत महासागर में पॉलिनेशिया में स्थित है।
नौरु
नौरु द्वीपीय राष्ट्र मध्य प्रशांत महासागर में माइक्रोनेशिया में स्थित है। 11,359 आबादी के साथ यह देश का तीसरा सबसे कम आबादी वाला देश है। यह दुनिया का तीसरा सबसे कम क्षेत्रफल वाला देश भी है। इसका क्षेत्रफल 8.1 वर्ग मील यानी करीब 21 वर्ग किलोमीटर है।
महादेशों के मुताबिक सबसे कम आबादी वाले देश
यूरोप: करीब 1000 आबादी के साथ वेटिकन सिटी
अफ्रीका: 93,920 आबादी के साथ सिचेलिस दुनिया का 12वां सबसे कम आबादी वाला देश है।
दक्षिण अमेरिका: 5,91,919 आबादी के साथ सूरीनाम।
एशिया: 3,92,709 आबादी के साथ मालद्वीव। यह दुनिया का 27वां सबके कम आबादी वाला देश है।
2017 के मुताबिक 10 सबसे कम आबादी वाले देश
वेटिकन सिटी-1,000 आबादी
तुवालु-11,192 आबादी
नौरु-13,649 आबादी
पलाउ-21,729 आबादी
सैन मैरिनो-33,400 आबादी
लेहटेंसटाइन-37,810 आबादी
मोनाको-38,695 आबादी
मार्शल आइलैंड्स-53,127 आबादी
सेंट किट्स ऐंड नेविस-55,345 आबादी
डोमिनिशिया-73,925
कम आबादी वाले द्वीप
कुछ अन्य द्वीप भी हैं जिनकी आबादी बहुत कम है जैसे पिटकैर्न द्वीप जहां की आबादी 54 है। कोको द्वीप की 596, तोकेलाउ द्वीप की 1,285 और नीयू द्वीप की आबादी 1,618 है।
चूंकि वे यूके, ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के अधीन इलाके हैं इसलिए उनको देश में शुमार नहीं किया जाता है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »