तोक्यो ओलंपिक पर भी कोरोना वायरस का साया, जापान परेशान

तोक्‍यो। तोक्यो ओलिंपिक की आयोजकों ने बुधवार को कहा कि चीन में तेजी से फैल रहे कोरोना वायरस के प्रभाव को लेकर चितिंत हैं। 2020 तोक्यो ओलंपिक की शुरुआत में छह महीने से कम का वक्त बचा है और ऐसे में आयोजक चीन के इस वायरस को लेकर काफी फिक्रमंद हैं।
आयोजन समिति के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) तोशिरो म्युतो ने इंटरनेशनल पैरालिंपिक कमेटी के अधिकारियों के साथ बैठक के दौरान इस मुद्दे पर गहरी चिंता जताई।
म्युतो ने कहा, ‘मुझे इस बात का बहुत डर है कि यह संक्रमित बीमारी ओलिंपिक खेलों की लय को बुरी तरह प्रभावित कर सकता है।’
उन्होंने कहा, ‘मैं उम्मीद करता हूं कि इस बीमारी पर जल्द से जल्द काबू पाया जाए।’
तोक्यो ओलंपिक के एथलीट विलेज में 11 हजार से अधिक ओलंपियन ठहरेंगे। इस विलेज के मेयर साबुरो कावाबुची की भी अपनी चिंता है।
उन्होंने कहा, ‘मैं दिल से उम्मीद करता हूं कि यह संक्रमित बीमारी जल्दी समाप्त हो जाए ताकि हम पैरालंंपिक और ओलंंपिक खेलों का आराम से आयोजित कर पाएं।’
उन्होंने कहा, ‘अगर कहीं ऐसा नहीं होता है तो हम एथलीट्स को सर्वश्रेष्ठ सुविधाएं देंगे ताकि वे पूरी शिद्दत से अपने प्रदर्शन पर ध्यान दे सकें।’
तोक्यो ओलंपिक के आयोजकों बार-बार यह कहा है कि ओलंपिक को स्थगित करने की कोई योजना नहीं है। स्विटजरलैंड स्थित इंटरनेशनल ओलंपिक कमेटी ने भी इस बात को दोहराया है लेकिन हर दिन के साथ समस्या बढ़ती जा रही है। कुछ ओलिंपिक क्वॉलिफाइंग टूर्नामेंट कैंसल कर दिए हैं और कुछ की जगह बदली गई है। यात्रा को लेकर लगी पाबंदियां दुविधा को बढ़ा रही हैं और यात्रा कर रहे फैंस में भी डर फैला हुआ है।
जापान में इस वायरस से अभी तक किसी की मौत की खबर नहीं मिली है लेकिन चीन में बुधवार को यह आंकड़ा 490 तक पहुंच गया।
ऑर्गनाइजिंग कमेटी के एक वाइस प्रेसीडेंट तोशिआकी एंडो ने मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, ‘जापान में हम कई तरह की परेशानियों का सामना कर रहे हैं, जिसमें कोरोना वायरस का इंफ्केशन, साइबर सुरक्षा और यातायात व्यवस्था भी शामिल है।’
उन्होंने आगे कहा, ‘आईओसी हमारी तैयारियों से संतुष्ट है।’
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *