कोरोना वायरस: कई देशों ने चीन को भेजे Mask व जरूरी उपकरण

नई द‍िल्ली। कोरोना वायरस के कहर के चलते व‍िश्व के अनेक देशों ने चीन की मदद को Mask व जरूरी उपकरण भेजे हैं। आज रविवार को चीन को 7 मिलियन से अधिक Mask, 3 लाख सुरक्षात्मक सूट और 2 लाख चश्मे मिल गए थे। ये सामान चीन को 21 देशों और एक अंतरराष्ट्रीय संस्था की ओर से दान किए गए थे जिससे इस वायरस से अपने नागरिकों को बचा सके।

चीन के वाणिज्य मंत्रालय की ओर से इन सामानों के बारे में जानकारी भी दी गई है। दरअसल जब से चीन में कोरोना वायरस का कहर बढ़ना शुरू हुआ उसके बाद से वहां पर Mask की एकाएक इतनी मांग हो गई थी कि मास्क दुकानों से गायब हो गए थे जिन दुकानों पर मास्क थे वो मुंहमांगी कीमत मांग रहे थे। ऐसी जानकारी सामने आने के बाद मास्क का स्टोरेज करने वाले और उसे अधिक दाम पर बेचने वाले दुकानदारों के खिलाफ कार्रवाई भी की गई।

किट की भी थी कमी

एक और बात ये भी सामने आई थी कि इस वायरस को जांचने के लिए जिस किट की जरूरत होती है वो भी पर्याप्त पैमाने पर उपलब्ध नहीं थी। तेदरोस अदहानोम गेब्रेयसस (Taderos Adhanom Gebrecius) ने जिनेवा में डब्ल्यूएचओ के कार्यकारी बोर्ड को बताया कि फिलहाल दुनिया में कोरोना वायरस के सुरक्षा उपकरण की भारी कमी है। जिस तरह से इसका फैलाव हो रहा है उस हिसाब से इससे निपटने के उपाय नहीं है। अब रविवार को तमाम देशों ने अपने यहां से मास्क, सुरक्षा उपकरण और चश्मे चीन को उपलब्ध कराए हैं।

मास्क की कीमतें स्थिर रखने का आदेश जारी

शनिवार को चीन के मंत्रालय की ओर से भी ये स्वीकार किया गया कि वहां पर मास्क की कमी बनी हुई है। जो दुकानदार अब तक मास्क को अधिक रेट पर बेच रहे थे उन सभी पर अंकुश लगाया गया है। ऐसे दुकानदारों से कहा गया है कि मास्क का जो रेट है वो उसी रेट से बेचें यदि किसी दुकानदार को अधिक रेट में मास्क बेचते हुए पाया गया तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। दुकानदार मौके का फायदा उठाने की कोशिश न करें बल्कि वो मरीजों को इस बीमारी से बचाव के लिए सहयोग करें।

दूसरे देश चीन को दे रहे मास्क

नेपाल ने चीन को एक लाख सुरक्षा मास्क दिए हैं। नेपाल को जब चीन में मास्क की कमी का पता लगा तो उनकी ओर से एक लाख मास्क देने की घोषणा की गई। अब वो मास्क चीन को दे दिए गए हैं। नेपाल के विदेश मंत्री प्रदीप कुमार ग्यावली और स्वास्थ्य मंत्री भानुभक्त ढकाल ने एक कार्यक्रम में नेपाल मे चीन के राजदूत होउ यान्की को मास्क सौंपे। इस अवसर पर चीनी राजदूत होउ ने नेपाल सरकार और इंटरनेशनल कम्युनिटी को कोरोना वायरस से लड़ाई में योगदान के लिए धन्यवाद दिया है।

उन्होंने कहा कि इस तरह के समर्थन और एकता से चीन और उसके नागरिकों को इससे लड़ने की इच्छाशक्ति मिलती है। चीन के नेशनल हेल्थ कमिशन ने बताया कि कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित हुबेई प्रांत और उसकी प्रांतीय राजधानी वुहान में हुई है। जबकि जिलिन, हेनन, ग्वांगडोंग और हैनान प्रांतों में एक-एक व्यक्ति के मारे जाने की खबर है।
– एजेंसी

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *