कोरोना प्रोटोकॉल: केंद्र के एक आदेश से दिल्ली के व्‍यापार‍ी खुश, किया स्वागत

नई दिल्ली। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने दिल्ली के व्‍यापार‍ियों को बड़ी राहत देते हुए एक आदेश जारी क‍िया ज‍िसके मुताबिक भीड़भाड़ वाले स्थानों पर कोरोना दिशा-निर्देशों के पालन की जिम्मेदारी अब व्‍यापार‍ियों की बजाय जिला के अधिकारी व स्थानीय निकायों की होगी। इसके पहले नियमित तौर पर जारी हो रहे दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (DDMA) के आदेश में बाजारों में भीड़भाड़ बढ़ने के लिए बाजार संगठन और व्यापारियों को जिम्मेदार ठहराया गया है।

गृह सचिव अजय भल्ला द्वारा जारी इस आदेश से पहले बाजारों और दुकानों पर बंदी का चाबुक चल रहा था, लक्ष्मी नगर, लाजपत नगर, करोलबाग, सदर बाजार व रोहिणी समेत अन्य बाजारों को बंद कराया गया, जिससे बाजारों में चिंता का माहौल था। दिल्ली को उत्तर भारत के प्रमुख कारोबारी हब के रूप में जाना जाता है। यहां 300 से अधिक थोक व खुदरा बाजार हैं जिसमें कोई नौ लाख कारोबारी प्रतिष्ठान हैं।

कारोबारी संगठनों ने दी ये प्रतिक्रिया

चैंबर आफ ट्रेड एंड इंडस्ट्री (CTI) के चेयरमैन ने कहा कि दुकानदार अपनी दुकान या गोदाम में कोरोना दिशानिर्देशों का पालन कर सकता है। सार्वजनिक जगहों पर नियम मनवाने का अधिकार व्यापारियों के पास नहीं है। हम उम्मीद करते हैं कि जिलाधिकारी और उपजिलाधिकारी जो भी कार्यवाही करेंगे, उसमें मार्केट संगठनों को उत्तरदायी नहीं ठहराएंगे। साथ ही बाजारों को बंद करने जैसा फैसला नहीं लेंगे।

चांदनी चौक सर्व व्यापार मंडल ने कहा कि बाजारों में कोरोना संक्रमण का फैलाव रोकने के लिए प्रशासन, नगर निगम और दिल्ली पुलिस द्वारा अपेक्षित कार्यवाही नहीं हो रही है। इस कारण सभी दिशानिर्देश टूट रहे हैं। ई-रिक्शा व रिक्शा पर निर्धारित सवारियों से अधिक सवारियां बैठाई जा रही है। इसी तरह कुछ धार्मिक स्थलों पर अनुमति के बगैर श्रद्धालु जा रहे हैं। उम्मीद है कि अब अधिकारी अपनी जिम्मेदारी समझेंगे और सारी जवाबदेही दुकानदारों पर थोपने से बचेंगे।

फेडरेशन ऑफ सदर बाजार ट्रेडर्स एसोसिएशन ने कहा कि हम गृह मंत्रालय को धन्यवाद देते हैं जिसने दिल्ली के व्यापारियों की तकलीफ समझी है। लगातार बाजारों के बंद होने से व्यापारियों में भय का माहौल बना हुआ था। कोरोना महामारी के खिलाफ युद्ध में सभी एजेंसियों और लोगों का समन्वय जरूरी है। हम आगे भी इस मामले में पुलिस, नगर निगम और प्रशासन को पूरा सहयोग देंगे। ताकि बाजार सुरक्षित खरीदारी का ठिकाना बने रहे।

– एजेंसी

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *