इंडोनेशिया में कोरोना का कोहराम, स्‍थिति नियंत्रण से बाहर

जकार्ता। भारत के एक और पड़ोसी देश इंडोनेशिया में कोरोना वायरस ने कोहराम मचा रखा है। इंडोनेशिया में कोरोना महामारी नियंत्रण से बाहर हो गई है और देश इन दिनों ऑक्‍सीजन की भारी कमी से जूझ रहा है। भारत की तरह से इंडोनेशिया में भी ऑक्‍सीजन के लिए लंबी-लंबी लाइन लग रही है। हालात इतने खराब हैं कि ऑक्‍सीजन की आस में लोगों की घरों में ही मौत हो जा रही है।
इंडोनेशिया में ऑक्‍सीजन गैस बेशकीमती हो गई है और काफी तलाश करने के बाद भी नहीं मिल रही है। एक दुकान के बाहर लाइन में लगी पिंटा अलजजीरा से कहती हैं, ‘मैं यहां पर अपनी मां के लिए ऑक्‍सीजन का एक टैंक खरीदने आई हूं। मेरी मां रविवार को कोरोना पॉजिटिव हो गई थीं और हमने कई अस्‍पतालों में जगह की तलाश की लेकिन कोई बेड खाली नहीं मिला। हमें एक लिस्‍ट मिली जिसमें यह बताया गया था कि यहां पर ऑक्‍सीजन मिलता है लेकिन मैं जिन-जिन जगहों पर गई वहां दुकान खाली मिली।’
इंडोनेशिया की राजधानी जकार्ता में ऑक्‍सीजन की तलाश करना हाल के सप्‍ताह में बहुत मुश्किल भरा हो गया है। एक बीमार व्‍यक्ति के जिंदा रहने की उम्‍मीद इस बात पर निर्भर है कि उसके रिश्‍तेदार सही जगह पर और सही समय पर हैं या नहीं। एक अन्‍य महिला विंडा ने कहा कि मुझे बीती रात ऑक्‍सीजन के लिए काफी भटकना पड़ा। मैं पांच जगहों पर गई लेकिन सब जगह ऑक्‍सीजन खत्‍म हो गया था।
इंडोनेशिया की सरकार का कहना है कि कोरोना से 66 हजार लोगों की मौत हुई है लेकिन विशेषज्ञों का कहना है कि इससे कहीं ज्‍यादा लोग महामारी से मारे गए हैं। यही नहीं, अस्‍पतालों में भी ऑक्‍सीजन की भारी कमी हो गई है। जावा द्वीप पर स्थित जोगजकार्ता एक अस्‍पताल में कम से कम 33 मरीजों की ऑक्‍सीजन की कमी से मौत हो गई। बताया जा रहा है कि समय पर सप्‍लाई नहीं पहुंच पाई थी।
कोरोना के वैश्विक मामले बढ़कर 18.67 करोड़
इस बीच कोरोना के वैश्विक मामले बढ़कर 18.67 करोड़ हो गए हैं। वहीं इस महामारी से मरने वालों की संख्या बढ़कर 40.2 लाख हो गई है। विश्वभर में करीब 3.43 अरब लोगों का इस महामारी के खिलाफ वैक्सीनेशन हो चुका है। दुनिया के सबसे अधिक मामलों और मौतों की संख्या क्रमश: 33,853,614 और 607,155 के साथ अमेरिका सबसे ज्यादा प्रभावित देश बना हुआ है। संक्रमण के मामले में भारत 30,837,222 मामलों के साथ दूसरे स्थान पर है।
30 लाख से अधिक मामलों वाले अन्य सबसे प्रभावित देश ब्राजील (19,089,940), फ्रांस (5,874,719), रूस (5,713,351), तुर्की (5,465,094), यूके (5,139,162), अर्जेंटीना (4,647,948), कोलंबिया (4,471,622), इटली (4,271,276) हैं। , स्पेन (3,937,192), जर्मनी (3,743,732) और ईरान (3,373,450) हैं। मौतों के मामले में ब्राजील 533,488 मौतों के साथ दूसरे नंबर पर है। भारत (408,040), मैक्सिको (234,907), पेरू (193,230), रूस (140,635), यूके (128,691), इटली (127,775), फ्रांस (111,515) और कोलंबिया (111,731) में 100,000 से अधिक लोगों की मृत्यु हुई है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *