UP में पहली बार हाईस्कूल का कोई छात्र नहीं होगा फेल

लखनऊ। कोरोना के कहर के बीच माध्यमिक शिक्षा परिषद, उत्तर प्रदेश ने हाईस्कूल के लगभग 29.94 लाख अभ्यर्थियों को प्रमोट करने का आधर तय कर दिया है। इस बार कक्षा नौ के परिणाम के आधार पर छात्रों को प्रमोट किया जाएगा। अर्थात अभ्यर्थी ने कक्षा नौ में विषयवार में जो भीं अंक अर्जित किए वही अंक देकर उसे हाईस्कूल में प्रमोट करने की तैयारी माध्यमिक शिक्षा परिषद कर रहा है।

माध्यमिक शिक्षा परिषद, उत्तर प्रदेश के सचिव दिव्यकांत शुक्ल ने आदेश जारी कर कहा है कि 24 मई तक वेबसाइट पर डिटेल्स उपलोड कर दिया जाए।

माध्यमिक शिक्षा परिषद, उत्तर प्रदेश सचिव दिव्यकांत शुक्ल ने शासन के निर्देश पर गत दिवस को नया आदेश जारी करते हुए कहा कि विगत वर्ष कक्षा नौ की वार्षिक परीक्षा विद्यालयों में हुई थी। जिसके विषयवार लिखित व प्रयोगात्मक परीक्षा के पूर्णांक व प्राप्तांक परिषद की वेबसाइट पर 24 मई तक अपलोड कर दिया जाए।लिखित परीक्षा के प्राप्तांक के लिए संबंधित विषय का पूर्णांक 70 अंक है व प्रोजेक्ट कार्य का विषयवार पूर्णांक 30 अंक है।

सचिव ने जिला विद्यालय निरीक्षकों को आदेश दिया है कि इस कार्य को शीर्ष प्राथमिकता के आधार पर पूरा कराएं। साथ में परिषद को सूचना भी देना भी अनिवार्य है। यदि कोई विद्यालय अंक परिषद की बेबसाइट पर अपलोड नहीं करता है। तो जनपद के डीआइओएस जिम्मेदारी होगी।

निर्णय अगले सप्ताह
माध्यमिक शिक्षा परिषद, उत्तर प्रदेश में इस वर्ष हाईस्कूल में पंजीकृत अभ्यर्थियों की संख्या 29.94 लाख है। जिसमें 16,74,022 बालक और 13,20,290 बालिकायें पंजीकृत हैं।
जैसा की विदित है कि इस वर्ष बोर्ड की परीक्षा कोरोना महामारी और पंचायत चुनाव के मद्देनजर टाल दी गई थीं। अगले सप्ताह शासन स्तर पर होने वाली बैठक में हाईस्कूल के अभ्यार्थियों को प्रमोट करने के निर्णय पर मुहर लग सकती है।

– नवनीत मिश्र

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *