स्वयं के विरुद्ध प्रतियोगिता है Ironman: रिदिम गर्ग

आगरा। जब आप पहली बार Ironman प्रतियोगिता में भाग लेते हैं तो वह किसी अन्य प्रतियोगी के विरुद्ध प्रतिस्पर्धा नहीं होती है अपितु आपके स्वयं के विरुद्ध होती है, आप दूसरे से तब मुकाबला कर सकते हो जब आप स्वयं अपने शरीर, मनोबल, हार्टबीट और ब्रीदिंग पर पूरा नियंत्रण रख सकें।

यह कहना था इटली में अभी हाल में Ironman के खिताब को जीतने वाले रिदिम गर्ग का। उनके अनुसार फिटनेस को उन्होंने अपने जीवन की लाइटस्टाइल का हिस्सा बना रखा है। यह बात उन्होंने आगरा की विभिन्न व्यापारिक एवं सामाजिक संस्थाओं द्वारा उनके आगरा आगमन पर आयोजित भव्य नागरिक अभिनन्दन समारोह के मध्य कही।

यह पूछे जाने पर कि उन्हें अभिनेता मिलिन्द सोमण का 15 घंटे 19 मिनट का रिकॉर्ड तोड़कर कैसा लगा, रिदिम की टिप्पणी थी कि मिलिन्द सोमण उनके लिए प्रेरणास्त्रोत हैं, जो अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर फिटनेस आईकॉन हैं। यह बात अलग है कि उनके रिकॉर्ड समय से 10 मिनट कम समय में आयरनमैन की इस प्रतिस्पर्धा को पूर्ण किया।

अपने अनुभवों को साझा करते हुए रिदिम गर्ग ने बताया कि जब वे प्रतियोगिता के तीसरे चरण मैराथन दौड़ रहे थे तो उनकी स्पीड कम थी और उस स्पीड से वह निर्धारित समय में प्रतिस्पर्धा पूर्ण नहीं कर पाते, उसी समय उनकी पत्नी दिखाई दीं, जिनके मोटिवेशन से वे अपनी गति बढ़ाकर निर्धारित समय से पूर्व ही मैराथन को पूरा कर सके। जिस समय वे मैराथन दौड़ रहे थे उस समय उनका दिल व दिमाग शून्य की स्थिति में था और केवल अपनों के आर्शीवचन ही उन्हें दौड़ने की शक्ति दे रहे थे। इस सफलता के लिए उन्होंने अपने माता-पिता, पत्नी अपने मित्रों को श्रेय दिया।

आयरनमैन ट्राईथेलॉन एक अंर्तराष्ट्रीय ईवेन्ट है जो इटली के सर्विया शहर में आयोजित होता है और इस बार यह ईवेन्ट दि0 22 सितम्बर को हुआ था। इस ईवेन्ट में सबसे पहले समुद्र में 3.8 किमी0 तैरना होता है, उसके तुरन्त बाद 180.2 किमी0 साईकिल चलानी होती है, जिसमें 90-90 किमी0 के दो लैप में थी और अन्त में 42.2 किमी0 की फुल मैराथन दौड़ होती है। इन तीनों प्रतिस्पर्धायें नॉनस्टॉप होती हैं और प्रत्येक प्रतिस्पर्धा के लिए भी अधिकतम समय निर्धारित रहता है। यह दुनिया की सबसे अधिक कठिन प्रतियोगिताओं में से एक है। तैराकी के दौरान समुद्र में जैलीफिश थीं जो एक बड़ी कठिनाई थी। मैराथन को उन्होंने 5 घंटे 15-20 मिनट में पूरा किया।

सेन्ट पीटर्स में स्कूलिंग के दौरान रिदिम गर्ग बास्केटबॉल खेलते थे और राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिताओं में भी भाग लिया और वहीं से एक खिलाड़ी के रूप में उनका कार्यकाल शुरू हुआ। वे डाइट डिसिप्लिन में पूरा विश्वास रखते हैं।

कार्यक्रम में जगन प्रसाद गर्ग (विधायक), डॉ0 जी0 धर्मेश (विधायक), केशो मेहरा (पूर्व विधायक), पुरुषोत्तम खण्डेलवाल, बसन्त गुप्ता (डी.जी.सी. क्राइम), राजेश कुलश्रेष्ठ, मोहित वर्मा, पूरन डावर (एफमैक), के0सी0 जैन (रैडको), भुवेश अग्रवाल, राकेश गर्ग, जगदीश वागला, शान्तिस्वरूप गोयल (हरि सत्संग समिति), गोपाल गुप्ता, सुनील विकल, इंजीनियर उमेश चंद शर्मा, राहुल पालीवाल, विनोद सीताराम, पी0एन0 अग्रवाल, ब्रजेश पण्डित, अतुल गुप्ता, पार्षद प्रदीप अग्रवाल, संजय तोमर, मनीष अग्रवाल, नरेन्द्र बंसल, मुरारी प्रसाद अग्रवाल, दिनेश बंसल (कातिब), योगेश जैन, महावीर प्रसाद अग्रवाल, गोविन्द अग्रवाल आदि एवं व्यापारिक एवं सामाजिक संस्थाओं के प्रतिनिधि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »