ब्रिटेन में कंज़र्वेटिव पार्टी की बड़ी जीत, स्‍पष्‍ट बहुमत मिला

लंदन। ब्रिटेन के आम चुनाव में सत्ताधारी कंज़र्वेटिव पार्टी ने बड़ी जीत हासिल की है. पार्टी ने स्पष्ट बहुमत हासिल कर लिया है.
650 सीटों वाली संसद में पार्टी ने बहुमत के लिए ज़रुरी 326 सीटों का आँकड़ा पार कर लिया है. भारतीय समयानुसार शुक्रवार सवा 11 बजे तक हाउस ऑफ कॉमन्स की कुल 650 में से 632 सीटों के नतीजे घोषित हो चुके हैं। इनमें से बोरिस जॉनसन की कंजर्वेटिव पार्टी को 352 सीटों पर जीत मिल चुकी है जबकि लेबर पार्टी के खाते में 202 सीटें आई हैं.
मुख्य विपक्षी लेबर पार्टी के नेता जेरेमी कॉर्बिन ने अपनी हार स्वीकारते हुए ऐलान किया है कि वह अगले आम चुनाव में पार्टी का नेतृत्व नहीं करेंगे. लेबर पार्टी 1935 के बाद अबतक की सबसे बुरी हार की तरफ बढ़ रही है.
ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने कहा है कि उन्हें अब एक नया जनादेश मिला है जिससे वो ब्रिटेन को यूरोपीय संघ से अलग करने वाली ब्रेग्ज़िट डील को लागू करवा सकेंगे और ब्रिटेन को एकजुट कर सकेंगे.
लेबर पार्टी के नेता जेरेमी कॉर्बिन ने नतीजों पर अफ़सोस जताते हुए इसे “लेबर पार्टी के लिए एक बहुत निराशाजनक रात” बताया है.
विश्लेषकों का कहना है कि लेबर पार्टी को कामगार तबक़े के लोगों का समर्थन नहीं मिला जिन्हें लगता था कि लेबर पार्टी ब्रेग्ज़िट पर 2016 में दिए गए उनके फ़ैसले का आदर नहीं कर रही.
पिछले पाँच साल से भी कम समय में ब्रिटेन में यह तीसरा चुनाव है.बीते दो चुनाव 2015 और 2017 में हुए थे.
ब्रिटेन के इतिहास में पिछले लगभग 100 सालों में ये पहला चुनाव है जो दिसंबर के महीने में करवाया गया.
31 जनवरी तक ब्रेग्ज़िट
यूरोपीय संघ ने ब्रिटेन को अलग होने यानी ब्रेग्ज़िट की समय सीमा अगले साल 31 जनवरी तक बढ़ा दी थी.
ईयू ने कहा है कि अगर ब्रितानी संसद 31 जनवरी से पहले किसी समझौते को मंज़ूरी दे देती है, तो ब्रिटेन ईयू से अलग हो सकता है.
साल 2016 में ब्रिटेन में हुए जनमत संग्रह में 52 फ़ीसदी लोगों ने ब्रेग्ज़िट का समर्थन किया था और 48 फ़ीसदी लोगों ने इसका विरोध किया था.
चुनाव नतीजों ने न सिर्फ बोरिस जॉनसन के फिर सत्ता में आने को तय किया है बल्कि यूरोपीय यूनियन से ब्रिटेन के अलग होने यानी ब्रेग्जिट की राह को आसान कर दी है. जॉनसन के पिछले मंत्रिमंडल में वरिष्ठ मंत्री रही भारतीय मूल की प्रीति पटेल ने कहा, ‘हम प्राथमिकताओं को पूरा करने के लिए प्रतिबद्ध हैं और ब्रेग्जिट हमारी प्राथमिकता है। समझौता तैयार है और हम आगे बढ़ना चाहते हैं.’
गौरतलब है कि जॉनसन ने कंजर्वेटिव पार्टी को बहुमत दिलाने और ब्रेग्जिट को लेकर हाउस ऑफ कॉमन्स में गतिरोध तोड़ने की कवायद के तहत मध्यावधि चुनाव की घोषणा की थी. करीब एक सदी बाद ब्रिटेन में विंटर में इलेक्शन हुए हैं. दिसंबर में हुए चुनाव में वोटरों ने ठिठुरती ठंड में घरों से बाहर निकलकर वोट डाला.
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *