बिचौलिए क्रिश्चियन मिशेल की वकालत करने वाले जोसेफ़ को कांग्रेस ने पार्टी से निकाला

नई दिल्‍ली। भारतीय युवक कांग्रेस ने संगठन की विधिक इकाई के राष्ट्रीय प्रभारी अल्जो के जोसेफ़ को पार्टी से निकाल दिया है. जोसेफ़ अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर सौदे के कथित बिचौलिए क्रिश्चियन मिशेल की ओर से बुधवार को कोर्ट में पेश हुए थे.
मिशेल को मंगलवार रात संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) से भारत प्रत्यर्पित किया गया था. उन्हें बुधवार को दिल्ली की एक कोर्ट में पेश किया गया. कोर्ट ने उन्हें पांच दिन के लिए सीबीआई की हिरासत में सौंप दिया है.
समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक जोसेफ़ कोर्ट में मिशेल की ओर से पेश हुए. उन्होंने और एक अन्य वकील विष्णु शंकरन ने मिशेल को सीबीआई की हिरासत में देने का विरोध किया. उनका तर्क था कि उन्हें सीबीआई की ओर से कोई दस्तावेज नहीं मिले हैं और मिशेल को न्यायिक हिरासत में रखा जाना चाहिए.
जोसेफ़ के मिशेल की ओर से कोर्ट में पेश होने को लेकर भारतीय जनता पार्टी के नेताओं ने तीखी प्रतिक्रिया दी. जल्दी ही वो सोशल मीडिया पर ट्रेंड करने लगे.
मोदी ने कहा, खुलेंगे राज़
पूर्ववर्ती यूपीए सरकार के दौर में हुए अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर सौदे को लेकर भारतीय जनता पार्टी कांग्रेस को घेरने की कोशिश में है.
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी बुधवार को राजस्थान की एक रैली में मिशेल के प्रत्यपर्ण को लेकर इशारों इशारों में कांग्रेस पर निशाना साधा.
मोदी ने कहा, “वो इंग्लैंड का नागरिक था, दुबई में रहता था, शस्त्रों का सौदागर था, हेलिकॉप्टर ख़रीदने-बेचने में दलाली का काम करता था, दुबई में राजनेताओं की सेवा-सुश्रुषा करता था. भारत सरकार कल उसको दुबई से उठाकर ले आई है. अब ये राज़दार राज़ खोलेगा, पता नहीं बात कहाँ तक पहुँचेगी, कितनी दूर तक पहुँचेगी.”
ऐसे में कांग्रेस ने भी इस मामले में सक्रियता दिखाई. युवक कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता अमरीश रंजन पांडेय ने एक प्रेस नोट जारी कर जोसेफ़ को पार्टी से निकाले जाने की जानकारी दी.
पार्टी से छुट्टी
प्रेस नोट के मुताबिक, “जोसेफ़ निजी हैसियत से कोर्ट में पेश हुए थे. इस मामले में पेश होने के पहले उन्होंने युवक कांग्रेस से सलाह नहीं ली थी. भारतीय युवक कांग्रेस ऐसे कदम का समर्थन नहीं करती है. भारतीय युवक कांग्रेस ने अल्जो जोसेफ़ को संगठन के लीगल डिपार्टमेंट से हटा दिया है और तत्काल प्रभाव से उन्हें पार्टी से निकाल दिया गया है.”
पार्टी से निकाले जाने के बाद एक समाचार एजेंसी से बातचीत में जोसेफ़ ने कहा “मैं सुप्रीम कोर्ट का वकील हूं और मिशेल के लिए कोर्ट में पेश होना मेरा व्यक्तिगत फ़ैसला था. अगर कोई मुझे अपने मामले को देखने के लिए कहेगा तो मैं बिल्कुल देखूंगा. ये मेरा बतौर वक़ील लिया गया फ़ैसला है, इसका कांग्रेस से कोई लेना-देना नहीं है.”
कांग्रेस ने भले ही जोसेफ़ को पद से हटा दिया हो लेकिन ये मामला अभी थमता नहीं दिख रहा है. बीजेपी इसे लेकर लगातार आक्रामक बनी हुई है.
बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने एक टीवी चैनल में चर्चा के दौरान कहा कि ये विडंबना ही है. उन्होंने दावा किया कि कांग्रेस पार्टी को इसकी पूरी जानकारी थी.
सोशल मीडिया पर भी ये मामला टॉप ट्रेंड में है. बीजेपी नेता अमित मालवीय ने भी मामले में ट्वीट किया है.
सितावरा हलदर ने ट्वीट किया है और लिखा है कि भारतीयों को मूर्ख बनाना बंद करो.
वहीं कुछ लोग इसे यूं भी देख रहे हैं कि अगस्ता मामले में बिचौलिए को भारत लाकर बीजेपी ने राफ़ेल मामले पर कांग्रेस को शांत कर दिया है.
कुछ लोग इसे तूफ़ान आने के पहले की आहट के तौर पर भी देख रहे हैं.
-BBC

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »