कांग्रेस सांसद ने संसद में मुझ पर हमले का प्रयास किया: डॉ. हर्षवर्धन

नई दिल्‍ली। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने मीडिया से कहा कि जब वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ राहुल गांधी की अभद्र भाषा के लिए आज लोकसभा में उनकी निंदा कर रहे थे तो कांग्रेस के सांसद उनकी सीट के पास आकर उन पर हमले का तथा कागज छीनने का प्रयास करने लगे।
दरअसल, सदन में शुक्रवार को उस समय हंगामेदार स्थिति बन गई जब स्वास्थ्य मंत्री ने प्रश्नकाल में राहुल गांधी के एक पूरक प्रश्न का उत्तर देने से पहले प्रधानमंत्री के खिलाफ उनके ‘डंडे’ वाले बयान को ‘अजीबोगरीब’ बताते हुए उसकी निंदा की। जिसके बाद कांग्रेस के एक सदस्य हषवर्धन के पास पहुंच गए।
हर्षवर्धन ने संसद भवन परिसर में संवाददाताओं से कहा, ‘जब मैंने प्रधानमंत्री के खिलाफ राहुल गांधी के बयान के लिए उनकी निंदा की तो कांग्रेस सांसद मेरी सीट के पास आए और उन्होंने मुझ पर हमला करने और मुझसे कागज छीनने की कोशिश की।’
उन्होंने कहा कि मोदी के खिलाफ राहुल की भाषा अत्यंत निंदनीय थी। एक पूर्व प्रधानमंत्री के बेटे से ऐसी भाषा की अपेक्षा नहीं की जा सकती। उन्होंने मांग की कि राहुल को माफी मांगनी चाहिए।
केंद्रीय मंत्री ने अपने ट्वीट में कहा, ‘प्रधानमंत्री मोदी जी पर अपमानजनक टिप्पणी के लिए राहुल गांधी जी को देश से माफी मांगनी चाहिए। प्रश्नकाल के दौरान राहुल जी के सवाल का जवाब देने से पहले मेरे लिए यह जरूरी था कि मैं उनसे उनकी करनी के लिए पश्चाताप करने का आग्रह करूं।’
इससे पहले सदन में प्रश्नकाल के दौरान हर्षवर्धन ने कहा कि राहुल गांधी के प्रश्न का उत्तर देने से पहले वह प्रधानमंत्री के खिलाफ कांग्रेस नेता की एक टिप्पणी पर बयान देना चाहेंगे जिसमें उन्होंने कहा था कि छह महीने बाद देश के युवा नरेंद्र मोदी को डंडे मारेंगे।
स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि वह गांधी के ‘अजीबोगरीब’ बयान की स्पष्ट शब्दों में निंदा करते हैं। इसी दौरान कांग्रेस के सदस्य जोरदार तरीके से विरोध दर्ज कराने लगे और पार्टी सदस्य मणिकम टैगोर सत्ता पक्ष की अग्रिम पंक्ति के पास पहुंच गए। वह दूसरी पंक्ति में जवाब दे रहे हर्षवर्धन के ठीक सामने पहुंचकर आक्रामक अंदाज में उन्हें हाथ दिखाने लगे।
राहुल गांधी ने कहा, हर्षवर्धन ने ड्रामा किया
कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने लोकसभा में पार्टी सांसदों के स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन पर झपट पड़ने के दावे को खारिज करते हुए कहा कि यह सब ड्रामा था। उन्होंने कहा कि सरकार रोजगार के मुद्दे पर कोई जवाब नहीं दे पा रही है और मैं लगातार रोजगार पर सवाल पूछ रहा हूं इसलिए मुझे बोलने से रोकने लिए हर्षवर्धन ने निर्देश पाकर यह ड्रामा किया।
उन्होंने कहा कि हर्षवर्धन ने जो किया, वह असंसदीय है। बाद में राहुल गांधी ने लोकसभा में कांग्रेस संसदीय दल के नेता अधीर रंजन चौधरी के साथ लोकसभा स्पीकर ओम बिरला से भी मुलाकात की।
हर्षवर्धन का व्यवहार असंसदीय: राहुल
राहुल गांधी ने संसद के बाहर मीडिया से कहा, ‘मैं कुछ दूसरा मामला उठा रहा था। सवाल का जवाब दिया जाता है, मगर शायद हेल्थ मिनिस्टर को किसी ने बताया होगा, इंस्ट्रक्शंस थे क्योंकि वो अपने-आप ऐसा नहीं करते। इंस्ट्रक्शंस थे दूसरा इशू उठाने के तो उन्होंने उठा दिया। यह अनपार्ल्यामेंट्री है, सामान्य तौर पर ऐसा होता नहीं है।’
हमारे सांसद पर ही हुआ हमला: राहुल
राहुल ने कांग्रेस सांद मानिक टैगोर के हर्षवर्धन से उलझने के सवाल पर कहा कि उन्होंने किसी पर कोई हमला नहीं किया, उल्टे उन्हीं पर हमला हुआ है।
उन्होंने कहा, ‘आप वीडियो देख सकते हैं। मानिक टैगार जी वेल में जरूर गए लेकिन उन्होंने किसी पर हमला नहीं किया, उल्टा उन पर हमला हुआ।’
राहुल के निशाने पर पीएम मोदी
राहुल ने मीडिया के सामने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को फिर से निशाने पर लिया। उन्होंने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री अपने पद और कद के मुताबिक व्यवहार नहीं कर रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘प्रधानमंत्री का खास दर्जा होता है, उनका एक खास तरह का अंदाज होता है, उनका खास तरह का स्तर होता है। कल प्रधानमंत्री ने लंबा भाषण दिया। जब मैंने उनसे पूछा कि रोजगार का क्या होगा तो वह जवाहर लाल नेहरू, पाकिस्तान के बारे बोलते रहे। वह मेरा जवाब नहीं दे पाए। जो देश के युवा हैं, जो रोजगार चाहते हैं, वह प्रधानमंत्री दे नहीं पा रहे हैं, इसीलिए आज यह ड्रामा देखा। इसीलिए प्रधानमंत्री ने कल सारी बातें कीं, लेकिन रोजगार की बात नहीं की।’
कब और क्यों हुआ हंगामा
गौरतलब है कि राहुल गांधी ने अपने संसदीय क्षेत्र वायनाड में मेडिकल कॉलेज के मुद्दे पर सवाल किया। स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन जब राहुल गांधी के सवाल का जवाब देने उठे तो उन्होंने राहुल गांधी की ओर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए इस्तेमाल अभद्र भाषा की निंदा की। उन्होंने कहा कि राहुलजी का जवाब देने से पहले मैं उनकी बेहद आपत्तिजनक शब्दों की कड़ी निंदा करता हूं और पूरे सदन से इसकी निंदा करने की अपील करता हूं। इस पर कांग्रेसी खेमा उबल पड़ा और कांग्रेसी सांसद हर्षवर्धन की तरफ दौड़ पड़े। बीजेपी सांसदों प्रह्लाद जोशी और जगदंबिका पाल ने कांग्रेसी सांसदों पर सदन में गुंडागर्दी करने का आरोप लगाया।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *