महामारी में कांग्रेस नेताओं का दोमुँहा और ओछा व्‍यवहार याद रखा जाएगा: नड्डा

नई दिल्‍ली। भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कोरोना महामारी पर कांग्रेस की आलोचनाओं का जवाब देते हुए पार्टी और उसके नेताओं पर कड़ा प्रहार किया है.
नड्डा ने सोमवार को कांग्रेस कार्यसमिति में मोदी सरकार की आलोचना का जवाब देते हुए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को एक चिट्ठी लिखी है.
इसमें उन्होंने लिखा है, “महामारी के दौरान कांग्रेस के व्यवहार से मैं हैरान नहीं, बल्कि आहत हूँ.”
उन्होंने कहा, “राहुल गांधी समेत कांग्रेस नेताओं का व्यवहार दोमुँहेपन और ओछेपन के लिए याद रखा जाएगा.”
चिट्ठी में वैक्सीन पर हो रही आलोचना को लेकर उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस ने वैक्सीन को लेकर भ्रम की स्थिति पैदा करने की कोशिश की.
नड्डा ने लिखा, “हाल के इतिहास में भारत में टीके को लेकर कभी कोई हिचकिचाहट नहीं रही, मगर कांग्रेस ने एक ऐसी महामारी के दौरान ऐसा करने की कोशिश की जो सदी में एक बार आती है.”
बीजेपी अध्यक्ष ने लिखा कि ऐसे समय जब सारा भारत कोरोना से लड़ रहा है, कांग्रेस को लोगों को भ्रम में डालना और झूठी दहशत फैलाना बंद करना चाहिए.
भारत में कोरोना महामारी की दूसरी लहर में केंद्र सरकार पर लगातार आक्रमण कर रही कांग्रेस ने सोमवार को कार्यसमिति की बैठक के बाद एक प्रस्ताव पारित किया था.
इसमें कहा गया, “कोरोना से जिस प्रकार से जानमाल का नुकसान हो रहा है और जिस प्रकार से यह सरकार अपराधिक तौर से निष्क्रिय है और मोदी सरकार ने पूरे देश को राम भरोसे छोड़ दिया है; उस पर कांग्रेस कार्य समिति ने व्यापक प्रस्ताव पारित किया है.”
बैठक की शुरूआत करते हुए पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने बैठक में कहा, “कोविड 19 की दूसरी लहर मोदी सरकार की उदासीनता, असंवेदनशीलता और अक्षमता का सीधा परिणाम है.”
राहुल गांधी ने नदी में बहते शवों पर किया ट्वीट
उधर कांग्रेस पार्टी के पूर्व अध्यक्ष और लोकसभा सांसद राहुल गांधी ने नदी में बहते मिले शवों, अस्पताल के बाहर इलाज के लिए कतारों में खड़े लोगों और हर रोज़ कोरोना संक्रमण से हो रही मौतों पर फिर ट्वीट किया है.
उन्होंने लिखा, “नदियों में बहते अनगिनत शव, अस्पतालों में लाइनें मीलों तक, जीवन सुरक्षा का छीना हक़! पीएम, वो गुलाबी चश्मे उतारो जिससे सेंट्रल विस्टा के सिवा कुछ दिखता ही नहीं.”
दरअसल एक दिन पहले ही बिहार के बक्सर ज़िले के चौसा प्रखंड के चौसा श्मशान घाट पर गंगा में कम से कम 40 लाशें तैरती हुई मिली थीं.
चौसा के प्रखंड विकास पदाधिकारी अशोक कुमार ने इस बात की पुष्टि करते हुए कहा था कि “30 से 40 की संख्या में लाशें गंगा में मिली हैं. इस बात की संभावना है कि ये लाशें उत्तर प्रदेश से बहकर आई हैं. मैंने घाट पर मौजूद रहने वाले लोगों से बात की है, जिन्होंने बताया कि लाशें यहाँ की नहीं है.”
एक आशंका यह भी है कि जो शव गंगा में तैर रहे हैं, ये संक्रमित लोगों के शव हैं.
-BBC

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *