संघ के कार्यक्रम में जाने पर कांग्रेसी नेता मनीष तिवारी ने प्रणब से पूछे 3 सवाल

नई दिल्‍ली। प्रणब मुखर्जी के नागपुर में संघ मुख्यालय जाने को कांग्रेस ने आड़े हाथ लिया है। कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने अपने ट्वीट में प्रणब से 3 सवाल पूछे। उन्होंने कहा कि प्रणब ने राष्ट्रवाद पर बात करने के लिए संघ मुख्यालय को ही क्यों चुना? आज अचानक से संघ अच्छा कैसे हो गया? 7 जून को प्रणब संघ के दीक्षांत समारोह में शामिल हुए थे। संघ के मंच से उन्होंने राष्ट्रीयता, राष्ट्रवाद और देशभक्ति पर अपनी बात रखी। करीब 30 मिनट के भाषण के दौरान उन्होंने महात्मा गांधी, जवाहर लाल नेहरू, लोकमान्य तिलक, सुरेंद्र नाथ बैनर्जी और सरदार पटेल का जिक्र किया।
आरएसएस अच्छा कैसे हो गया: मनीष ने पूछे तीन सवाल, एक उदाहरण भी दिया
1. मनीष तिवारी ने प्रणब से पूछा, “आपने अभी तक धर्म निरपेक्ष लोगों को कोई जवाब नहीं दिया है। मैं पूछना चाहता हूं कि आपने राष्ट्रवाद पर अपनी बात रखने के लिए आरएसएस मुख्यालय को ही क्यों चुना?”
2. “आपकी पीढ़ी ने 80 और 90 के दशक में आरएसएस की सोच को लेकर चेतावनियां दी थीं। जब 1975 और फिर 1992 में आरएसएस पर प्रतिबंध लगाया था, तब आप उस वक्त सरकार का हिस्सा थे। क्या आपको नहीं लगता कि कभी गलत सोच रखने वाला संघ आज अच्छा कैसे हो गया। या फिर हम जो पहले कहते रहे वो गलत था या ये उधार लिया गया सम्मान है?”
3. “आरएसएस के कार्यक्रम में आपका शामिल होना वैचारिक पुनरुत्थान की कोशिश है या फिर राजनीति में आ रही गिरावट को दूर करना। क्या ऐसा करके क्या आप कड़वाहट दूर करना चाहते हैं? क्या आपकी कोशिश से आरएसएस को धर्मनिरपेक्ष और बहुलतावादी मान लिया जाएगा?”
मनीष ने एक उदाहरण भी दिया, “इतिहास बताता है कि जब नाजी यूरोप में अपनी अकड़ दिखा रहे थे। चेंबरलेन (पूर्व ब्रिटिश प्रधानमंत्री) ने सोचा कि 1938 के म्यूनिख पैक्ट से उन्होंने अपने दौर में शांति को लेकर सबसे बड़ा काम किया है। कितनी गलत साबित हुई थी उनकी सोच।”
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »