छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की दाल नहीं गलेगी: अमित शाह

छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव के ऐलान के साथ ही कांग्रेस और बीजेपी सहित सभी राजनीतिक दलों में सियासी जंग तेज हो गई है। इसी​ के तहत भाजपा अध्यक्ष अमित शाह राज्य के 2 दिवसीय दौरे पर हैं। शुक्रवार को रगुजा जिले के मुख्यालय अंबिकापुर में कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करते हुए शाह ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी कितनी भी कोशिश कर ले छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की दाल नहीं गलेगी। उन्होंने कहा कि पहले जहां यह राज्य भूखमरी, नक्सली, अंधेरा, गरीबी आदि का हब माना जाता था अब पावर, सीमेंट और एजुकेशन का हब बन गया है।
छत्तीसगढ़ में हुआ विकास
शाह ने कहा कि आज छत्तीसगढ़ में आदिवासियों समेत सभी का विकास हो रहा है और राहुल गांधी कितनी भी कोशिश कर ले राज्य में उन्हे जीत नहीं मिलने वाली। उन्होंने कहा कि राज्य में विधानसभा चुनाव होने हैं और 2019 में लोकसभा का भी चुनाव होना है। कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और भाजपा को हराने के लिए महागठबंधन बना लिया है। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि मैं उनके साहस की दाद देता हूं। मैं पूछना चाहता हूं कि राहुल गांधी को केंद्र और छत्तीसगढ़ में कैसे सरकार बनते दिखाई दे रही है, जो यहां अश्लील नकली सीडी बनाकर मां-बहनों को अपमानित कर रहे हैं, क्या उनके नेतृत्व में सरकार बनाने की कोशिश कर रहे हैं।
कांग्रेस की नहीं गलने देंगे दाल
भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि वह चुनौती देते हैं कि कांग्रेस अध्यक्ष राज्य जनता को बताएं कि वह यहां किसके नेतृत्व में सरकार बनाना चाहते हैं। हम प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री के लिए चुनाव नहीं लड़ते हैं। हम रमन सिंह के नेतृत्व में आदिवासियों का जो विकास हुआ है, उसके लिए चुनाव लड़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा कार्यकर्ताओं की पार्टी है। इस पार्टी में वंशवाद नहीं चलता है। यहां गरीब चाय वाले का बेटा भी प्रधानमंत्री बन सकता है।
छत्तीसगढ़ में 2 चरणों में होंगे चुनाव
शाह ने कहा कि राहुल गांधी कहते हैं कि मोदी सरकार बताएं कि पिछले साढ़े चार साल के शासनकाल में उन्होंने क्या किया। मैं कहता हूं उनकी पार्टी ने 55 साल तक राज किया और उन्होंने गरीबों के लिए क्या किया। यदि 55 सालों में उनकी पार्टी ने गरीबों के लिए काम किया होता तब रमन सिंह की सरकार को आदिवासियों को चरण पादुका देने की जरूरत नहीं पड़ती। बता दें कि छत्तीसगढ़ में में दो चरणों में चुनाव होने हैं यहा भाजपा पिछले 15 वर्षों से सत्ता में है। वहीं कांग्रेस मुख्य विपक्षी दल की भूमिका में है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »