कर्नाटक-गोवा के राजनीतिक हालात पर संसद परिसर में कांग्रेस ने किया प्रदर्शन

नई दिल्‍ली। कर्नाटक-गोवा के राजनीतिक हालात पर आज यूपीए की चेयरपर्सन सोनिया गांधी और पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की अगुआई में विपक्ष ने संसद परिसर में गांधी प्रतिमा के सामने प्रदर्शन एवं नारेबाजी की। विपक्षी नेताओं के हाथों में ‘लोकतंत्र बचाओ’ लिखी तख्तियां थीं।
कर्नाटक में कांग्रेस-जेडीएस के 16 विधायकों के इस्तीफे की वजह से मुख्यमंत्री कुमारस्वामी की गठबंधन सरकार मुश्किल में है। सुप्रीम कोर्ट ने बागी विधायकों को निर्देश दिया है कि वे आज शाम 6 बजे विधानसभा स्पीकर से मिलें और आज ही स्पीकर इस्तीफों पर फैसला लेकर अपना निर्णय कोर्ट को बताएं।
दूसरी ओर, बुधवार को कांग्रेस के 15 में से 10 विधायक भाजपा में शामिल हो गए थे।
चिदंबरम ने राज्यसभा में कहा, ”मैं चाहता था कि खुशनुमा माहौल में बोलूं। मैं सिर्फ इसलिए निराश नहीं हूं कि कल टीम इंडिया मैच हार गई बल्कि आए दिन लोकतंत्र पर खतरा बढ़ता जा रहा है। इससे भी दुखी हूं। पिछले दिनों कर्नाटक और गोवा में क्या हुआ, सबने देखा है। इससे देश की अर्थव्यवस्था को नुकसान होगा। विदेशी निवेशक और अंतर्राष्ट्रीय संस्थाएं राजनीतिक अस्थिरता के बारे में जो सुनेंगी और पढ़ेंगी, उसका असर अर्थव्यवस्था पर पड़ेगा।”
राहुल ने लोकसभा में किसानों का मुद्दा उठाया
उधर, वायनाड से सांसद राहुल गांधी ने लोकसभा में कहा- ‘‘देशभर के किसान परेशान हैं। सरकार को इस पर ध्यान देना चाहिए। सरकार ने किसानों के लिए जो वादे किए थे, 5 साल बाद भी पूरे नहीं हुए। इस बार के बजट में भी उनके लिए कोई खास प्रावधान नहीं किया गया। सरकार से आग्रह करना चाहता हूं कि आरबीआई और केरल सरकार को निर्देश दें कि कर्जवसूली के लिए किसानों को धमकाया न जाए। बुधवार को ही वायनाड के एक किसान ने खुदखुशी कर ली। वायनाड के 8000 किसानों को कर्ज वसूली के लिए बैंकों ने नोटिस भेजा है।’’
बजट से हर वर्ग के किसानों को लाभ मिलेगा: सरकार
इस पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सरकार की ओर से जवाब दिया- ‘‘सरकार ने किसानों के हितों में कई फैसले लिए हैं। हर वर्ग के किसानों को प्रधानमंत्री किसान योजना का लाभ दिया जा रहा है। बजट में भी उनके लिए कई योजनाएं शुरू करने का प्रावधान किया गया है।’’
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »