KD हॉस्पिटल में हुई इंट्रा एब्डोमिनल सिस्ट की जटिल सर्जरी

मथुरा। के.डी. मेडिकल कॉलेज-हॉस्पिटल एण्ड रिसर्च सेण्टर के शिशु शल्य विशेषज्ञ डॉ. श्याम बिहारी शर्मा ने दर्द से कराहते बच्चे अनंत की जटिल सर्जरी कर उसके पेट से लगभग 500 ग्राम की द्रव से भरी गांठ निकालकर उसे नई जिन्दगी प्रदान की है। चिकित्सकीय भाषा में इस तरह की सर्जरी को इंट्रा एब्डोमिनल सिस्टिक लिम्फेंजियोमा या रिट्रोपेरीटोनियल लिम्फेंजियोमा कहते हैं। ऐसी समस्या एक लाख में से एक व्यक्ति को ही होती है। अब बच्चा पूरी तरह स्वस्थ है तथा घर जा चुका है।

Dr shyambihari sharma in KD hospital
Dr shyambihari sharma with patient in KD hospital 

ज्ञातव्य है कि ग्राम सिहोरा, तहसील महावन, जिला मथुरा निवासी मुकेश का तीन साल का बेटा अनंत प्रायः पेट दर्द से कराहता रहता था। बच्चे का स्वास्थ्य भी ठीक नहीं रहता तथा वह खाना खाने के बाद तत्काल उल्टी कर देता था। बच्चे की इस परेशानी के निदान हेतु मुकेश उसे दिल्ली, जयपुर, आगरा, भरतपुर के कई अस्पतालों में ले गए लेकिन अनंत को कहीं लाभ नहीं मिला। अंततः जब मुकेश को पता चला कि के.डी. हॉस्पिटल में बच्चों के विशेषज्ञ चिकित्सक हैं, तो वह शिशु शल्य चिकित्सक श्याम बिहारी शर्मा से मिला। डॉ. शर्मा ने बच्चे का अल्ट्रासाउण्ड, सीटी स्केन सहित कुछ अन्य जांचें कराईं जिससे पता चला कि उसके पेट में द्रव पदार्थ से भरी सिस्ट की एक गांठ है।

डॉ. श्याम बिहारी शर्मा ने मुकेश को बताया कि बच्चे की सर्जरी करनी होगी। मुकेश की सहमति के बाद 10 सितम्बर को डॉ. शर्मा ने बच्चे की सर्जरी की। सर्जरी में बच्चे के पेट से लगभग 500 ग्राम द्रव से भरी सिस्ट की गांठ निकली, जिसने आंतों को जकड़ रखा था। इसी गांठ के कारण ही बच्चे को दर्द होता था तथा वह खाने के बाद उल्टी कर देता था। चिकित्सकों की टीम ने सावधानीपूर्वक उस गांठ को निकाला तथा आंतों को भी कोई नुकसान नहीं पहुंचा। अनंत के पेट का घाव भर गया है तथा टांके भी निकाल दिए गए हैं। अब बच्चा पूरी तरह स्वस्थ होकर घर जा चुका है। सर्जरी डॉ. श्याम बिहारी शर्मा ने की, उनका सहयोग डॉ. विक्रम, डॉ. रवि, डॉ. अमृतांजय, डॉ. आकाश शर्मा एवं ओटी टेक्नीशियन रवि सैनी ने किया। एनेस्थीसिया डॉ. सोनी जसूजा ने दिया।

के.डी. हॉस्पिटल में ऐसी सर्जरी पहली बार हुई है। डॉ. श्याम बिहारी शर्मा का कहना है कि मैंने अपने 40 साल के चिकित्सकीय जीवन में सिर्फ 10 ऐसे आपरेशन किए हैं, जिसे शोध-पत्र के रूप में भी प्रकाशित किया गया है। आर.के. एज्यूकेशनल ग्रुप के अध्यक्ष डॉ. रामकिशोर अग्रवाल, प्रबंध निदेशक मनोज अग्रवाल तथा डीन डॉ. रामकुमार अशोका ने बच्चे की जटिल सफल सर्जरी के लिए चिकित्सकों की टीम को बधाई दी है।
– Legend News

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *