सहारनपुर के Teetro में दो दिवसीय न्यायस्थापना अभियान का समापन

Teetro में दो दिवसीय न्यायस्थापना अभियान का समापन में अरविंद ‘अंकुर ‘ ने कहा- “अक्षय जीविका कोष” का अद्भुत प्रस्ताव भारत सहित सम्पूर्ण विश्व की बेरोजगारी को पूर्णतः समाप्त करने में सक्षम

तीतरो/सहारनपुर। Teetro में देश को न्यायशील भारत बनाने हेतु दो दिवसीय न्यायस्थापना का कार्यक्रम का समापन हुआ । आज पहले दिन घेर सुशील चौधरी आवास निकट नगर पंचायत कार्यालय Teetro में आयोजन किया गया  जिसमेंं आसपास के गाँवो से आये हुए काफी लोगों ने भाग लिया ।

Teetro में सभा को संबोधित करते हुए संस्था के संस्थापक एवं 111 न्यायप्रस्तावों के प्रतिपादक श्री अरविंद अंकुर जी ने बताया कि चार सेवाएं नागरिक परिवार की कुल आर्थिक आय के 8.25 प्रतिशत भाग द्वारा प्रति सेवा अथवा 33 प्रतिशत द्वारा चारों सेवाओं(शिक्षा,रोजगार,सुबिधायें ,सरंक्षण) की सुलभता एक साथ सुनिश्चित करी जा रही है ।

इससे सरकार पर नागरिक की निर्भरता समाप्त होगी।

इससे सरकार का कार्यभार हल्का हो जायेगा।

इससे दुनिया में राष्ट्रीयता की जगह सामाजिकता का उदय होगा।

इससे सार्वजनिक कार्यों में वास्तविक लोकतंत्र स्थापित होगा।

इससे सरकार की बदनामी रुकेगी।

इससे प्रत्येक नागरिक तक सेवाओं की सुलभता सम्भव हो जायेगी।

इससे नागरिक की आय के अनुरूप शुल्क या अंशदान एवं समुचित सेवाओं की सुलभता होगी।

इससे 5 प्रतिशत द्वारा 95 प्रतिशत लोगों के शोषण की प्रक्रिया समाप्त होगी।

इससे जनता का जनता के द्वारा जनता के लिए आर्थिक सामाजिक राजनैतिक लोकतंत्र पनपेगा।

इससे दुनिया में न्यायशील त्रिकोणीय अर्थव्यवस्था प्रतिष्ठित होगी।

इससे राजकोष के स्थान पर समाजकोष द्वारा चारों जनसेवाएं संचालित होंगीं।
इससे राजनैतिक संघर्ष समाप्त होगा एवं जनता सामजिक प्रयत्नों द्वारा अपनी समस्त मानवीय समस्याओं का समाधान करने लगेगी।
इससे राजद्रोह जैसी समस्याएं स्वतः समाप्त होने लगेंगी।
इससे जनता को अपनी मांग मनवाने के लिए धरना हड़ताल विरोध प्रदर्शन आन्दोलन उपद्रव आतंक युद्ध चोरी डकैती आदि स्वतः समाप्त हो जायेंगे।

क्या है NDS के “अक्षय जीविका कोष” का न्यायप्रस्ताव
न्यायधर्मसभा द्वारा सरकार को दिया गया एक और अद्भुत प्रस्ताव है “अक्षय जीविका कोष” या “एटर्नल एम्प्लॉयमेंट फण्ड”। इसकी स्थापना के लिए वर्तमान बजट में ही सरकार को केवल एक न्यायसंगत नीति अपनानी होगी तथा “गरीबी उन्मूलन” का पाखंड बंद करके “रोजगार प्रदान” करना होगा।।
रोटी के स्थान पर रोजी प्रदान करने की यह न्यायोचित व्यवस्था लागू करनी होगी।
वास्तव में समस्या ‘गरीबी’ नहीं बेरोजगारी’ है। जो बेरोजगार है वही गरीब है। अतः पर्याप्त रोजगार देनेमात्र से गरीबी खत्म हो जायेगी। यह सुनिश्चित है।
बेरोजगारी या न्यून रोजगारी के कारण ही गरीबी की समस्या है और केवल पर्याप्त रोजगार ही उसका समाधान है। अतः समस्या की चर्चा नहीं बल्कि समाधान चाहिए। वर्तमान में सरकार “गरीबी उन्मूलन” के नाम पर सस्ता अनाज, मिड-डे-मील, गरीबीभत्ता, बेरोजगारीभत्ता, मनरेगा इत्यादि के नाम पर लगभग साढे चार लाख करोड़ रुपया प्रतिवर्ष खर्च कर रही है। यानि प्रत्येक साल उतना ही पैसा खर्च होता है, परन्तु गरीबी ज्यों की त्यों है।
जनता को रोटी नहीं रोजी चाहिए। बेरोजगार व्यक्ति को भत्ता नहीं रोजगार चाहिए।

न्यायधर्मसभा के न्यायप्रस्ताव “अक्षय जीबिका कोष” के तहत उतना ही पैसा यानि लगभग साढ़े चार लाख करोड़ रुपया प्रतिवर्ष की दर से एक एम्प्लॉयमेंट फण्ड बनाया जाए और उस फण्ड से बेरोजगारों को उनकी क्षमता एवं योग्यता के आधार पर रोजगार के लिए बिना ब्याज का ऋण दिया जाए। इस निर्ब्याज ऋण की रकम को एक स्वैच्छिक क़िश्तों द्वारा वापस भी लिया जाए।
इससे कुछ ही समय में देश ही नहीं पूरी दुनिया की बेरोजगारी समाप्त हो जायेगी। साथ ही यह एम्प्लॉयमेंट फण्ड हर साल बढ़ते-बढ़ते असीमित रूप ले लेगा। इस फण्ड से एक रुपया खर्च किये बिना ही पूरी दुनिया की बेरोजगारी समाप्त हो जायेगी क्योंकि इसके द्वारा दिया जाने वाला निर्व्याज ऋण पूर्णतः प्रत्याभूत एवं वापसी की शर्तों पर होगा। लाभ-हानि से मुक्त होकर सरकार द्वारा इस फंड का संचालन किया जायेगा। यह असमाप्त कोष होगा। इसलिये ही इस फण्ड का नाम “अक्षयजीविकाकोष” रखा गया है।।
यह एटर्नल एम्प्लॉयमेंट फण्ड बहुत ही अद्भुत है जो कुछ समय में ही भारत सहित सम्पूर्ण विश्व की बेरोजगारी को पूर्णतः समाप्त कर देगा। अंत मे आयोजन कर्ता वरुन चौधरी व निशांत चौधरी ने सभा मे उपस्थित सभी लोगों को धन्यवाद दिया । तथा देश को वास्तविक स्वतंत्रता दिलाने के लिए प्रेरित किया ।
दूसरी सभा चाणक्य कोचिंग गंगो में आयोजित की गयी जिसमे सभी छात्रों ने न्यायप्रस्तावों को जानकर हर्षित हुए । तथा न्यायस्थापना अभियान में भाग लेने के लिये रुचि दिखायी ।

इसमें मुख्यरूप से बिहार प्रभारी संजय श्रीवास्तव जी ,महाराष्ट्र से डॉ अशोक काबरा जी, राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी चन्द्रसेन शर्मा जी ,हिदायत अली खान जी, आयोजन कर्ता वरुन चौधरी जी,निशांत चौधरी जी ,सन्नी जी,चैयरमेन रामपाल चौधरी जी ,रणवीर चौधरी जी,अंकुश जी ,वैष्णो जी,तरुन जी,हर्ष जी,अभिनव जी,धर्मेंद्र जी ,हनी जी आदि उपस्थित रहे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »