सीएमएस में धूमधाम से मना Commonwealth समारोह

लखनऊ। सिटी मोन्टेसरी स्कूल में Commonwealth युवा सम्मेलन धूमधाम से मनाया गया। मुख्य अतिथि के रूप में उप्र पुलिस रिक्रूटमेन्ट बोर्ड की IG श्रीमती पद्मजा चौहान ने दीप प्रज्वलित कर समारोह का विधिवत उद्घाटन किया।

इस अवसर पर सी.एम.एस. छात्रों ने रंगारंग शिक्षात्मक-साँस्कृतिक कार्यक्रमों की अनूठी छटा बिखेरकर सम्पूर्ण विश्व समाज में एकता, शान्ति व सद्भाव का उद्घोष किया। छात्रों द्वारा प्रस्तुत शान्ति प्रार्थना, सर्व-धर्म प्रार्थना, कॉमनवेल्थ गीत आदि अनेकों कार्यक्रमों ने सभी को झूमने पर मजबूर कर दिया। समारोह का खास आकर्षण छात्रों की भाषण प्रतियोगिता रही, जिसमें सी.एम.एस. छात्रों ने कॉमनवेल्थ सम्मेलन की थीम ‘ए कनेक्टेड कॉमनवेल्थ’ पर चर्चा करते हुए विभिन्न देशों के बीच अर्न्तसाँस्कृतिक समझ विकसित करने पर प्रकाश डाला।

कॉमनवेल्थ युवा सम्मेलन के उद्घाटन अवसर पर बोलती हुई मुख्य अतिथि आई.पी.एस. पद्मजा चौहान ने कहा कि ऐसे आयोजन युवा पीढ़ी को विश्व समाज से जुड़ने एवं एकता, शान्ति व सौहार्द का वातावरण बनाने में प्रेरक की भूमिका निभाते हैं। यह बड़ी ही अच्छी बात है कि सी.एम.एस. ने विश्व एकता व विश्व शान्ति के प्रयास में छात्रों एवं युवा पीढ़ी को सम्मिलित किया है। श्रीमती चौहान ने छात्रों का उत्साहवर्धन करते हुए कहा कि यह परीक्षा का समय है, अतः तनावरहित होकर परीक्षा दें, परीक्षा ही आपको सफलता के सोपान पर पहुँचायेगी और समाज में रचनात्मक उत्थान हेतु प्रेरित करेगी। इससे पहले, सी.एम.एस. प्रेसीडेन्ट प्रो. गीता गाँधी किंगडन ने अपने स्वागत भाषण में कहा कि कामनवेल्थ समारोह हमें इस बात के लिए प्रेरित करता है कि हम स्वतन्त्रता, सहिष्णुता, मानवता, मानवीय अधिकार, ज्ञान व संस्कृति के आदान-प्रदान, सबका विकास व समानता आदि मूल्यों को अपने जीवन में स्थान दें।

इस अवसर पर कॉमनवेल्थ सम्मेलन की थीम ‘ए कनेक्टेड कॉमनवेल्थ’ पर आधारित भाषण प्रतियोगिता में सी.एम.एस. छात्रों ने अपने विचार प्रस्तुत कर साबित कर दिया कि सी.एम.एस. अपने छात्रों को सर्वांगीण शिक्षा प्रदान कर रहा है। इस अवसर पर अपने विचार व्यक्त करते हुए कक्षा-11 के छात्र चन्द्रशीश कुकरेती ने कहा कि कॉमनवेल्थ विभिन्न देशों के बीच संवाद व सम्पर्क का सशक्त माध्यम है। इससे हमारी धरती खुशहाल होगी और सभ्यता का विकास होगा। मनस्वी पाठक का कहना था कि विचार-विमर्श की प्रक्रिया सभी देशों के लिए लाभदायक है। इसे लगातार आगे बढ़ाने की आवश्यकता है। देवाशीष पाण्डेय ने कहा कि कामनवेल्थ से एकता व कानून का राज स्थापित होता है तथा कई संस्थाएं मिलकर सम्पूर्ण मानवता के लिए कार्य करती हैं। अंगीरा सिंह भट्ट ने कहा कि कामनवेल्थ के सभी देश मिलकर पर्यावरण के लिए कार्य करें एवं प्राकृतिक संपदा को बचाएं। इसी प्रकार कई अन्य छात्रों ने अपने विचार रखते हुए कहा कि सम्पन्नता का अर्थ सर्वांगीण विकास है। कॉमनवेल्थ देश समाज के उत्थान की दिशा कार्य कर रहे हैं। भाषण प्रतियोगिता का संचालन देवाशीष गुप्ता एवं अक्षिता त्रिपाठी ने किया।

इस अवसर पर अपने सम्बोधन में प्रख्यात शिक्षाविद् व सी.एम.एस. संस्थापक डा. जगदीश गाँधी ने कहा कि विश्व में शान्ति स्थापना का मकसद छात्रों एवं युवा पीढ़ी के सहयोग से ही पूरा हो सकता है। कॉमनवेल्थ महोत्सव हमें एक वृहत विश्व परिवार से जुड़ने का अवसर प्रदान करता है। सी.एम.एस. गोमती नगर कैम्पस की वरिष्ठ प्रधानाचार्या सुश्री मंजीत बत्रा ने कहा कि कॉमनवेल्थ दिवस पूरी दुनिया का एक करने, शान्ति व एकता स्थापित करने तथा मानवजाति को एक करने की उम्मीदों के साथ मनाया जाता है। सबसे खास बात यह है कि यह कॉमनवेल्थ दिवस हमारी उसी संस्कृति व सभ्यता को बढ़ावा देता है जो ‘वसुधैव कुटुम्बकम्’ के रूप में सदैव हमारा आदर्श रही है और सारे विश्व को एकता की कड़ी में पिरोना ही इस दिवस को महत्वपूर्ण उद्देश्य है। समारोह के अन्त में कॉमनवेल्थ युवा सम्मेलन की संयोजिका व सी.एम.एस. गोमती नगर (प्रथम कैम्पस) की प्रधानाचार्या श्रीमती आभा अनन्त ने सभी के प्रति हार्दिक धन्यवाद ज्ञापित किया।

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *