मेघालय हाई कोर्ट के जस्टिस की टिप्पणी, ‘भारत को हिंदू राष्ट्र’ होना चाहिए था

मेघालय हाई कोर्ट के जस्टिस एस आर सेन ने एक मामले पर फैसला देते हुए टिप्पणी की है कि ‘भारत को हिंदू राष्ट्र’ होना चाहिए था. जज के इस फैसले के बाद सियासी गलियारे में हलचल मच गई है. जज ने कहा था कि भारत को बंटवारे के वक्त हिंदू राष्ट्र घोषित कर देना चाहिए था. साथ ही उन्होंने कहा कि भारत को इस्लामिक राष्ट्र बनने से रोकना चाहिए. इसके बाद कई दलों के नेताओं कि टिप्पणी आई है. जस्टिस सेन की इस टिप्पणी पर असदुद्दीन ओवैसी ने ट्वीट करके निशाना साधा है तो राज्यसभा सांसद राकेश सिन्हा ने ओवैसी पर सवाल उठाए हैं
ओवैसी ने ट्वीट करते हुए कहा, ‘उनका एक ही काम था कि जिस संविधान के जरिए वे जज बने हैं उसे पढ़ें. लेकिन उन्होंने मित्रों के लिए गाना गाने का रास्ता चुना. यह फैसला कानून और संविधान विशेषज्ञ द्वारा लिखे गए किसी कागजात के बजाय व्हॉट्सऐप पर भेजे गए किसी मैसेज जैसा लग रहा है.’ ओवैसी के ट्वीट पर आरएसएस प्रचारक और राज्यसभा सांसद राकेश सिन्हा ने उन पर निशाना साधा. उन्होंने कहा, ‘ओवैसी भारत में आईएसआईएस के पोस्टल एड्रेस हैं. वो सॉफ्ट तरीक से आईएसआईएस की विचारधारा से ताल्लुक रखते हैं. ओवैसी देश में धर्म के आधार पर ध्रुवीकरण करने के सबसे बड़े एजेंट साबित हो रहे हैं.’
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »