9वें दिन खत्म हुआ गुर्जर आन्दोलन, Colonel Bainsla ने की घोषणा

6 मासौदोंं को लेकर बनी सहमति, आरक्षण का ड्राफ्ट मिलते ही खत्म हुआ आन्दोलन

जयपुर। Colonel Bainsla ने आरक्षण को लेकर किये जा रहे गुर्जर आंदोलन को खत्‍म करने की घोषणा की। Colonel Bainsla ने कहा कि हमारे लिए राष्‍ट्रहित सर्वोपरि है और शहीदों के परिजनों को रेलवे अथवा सडक मार्ग से आने जाने में परेशानी ना हो इसलिए हम ट्रैक खाली कर रहे हैं।

मंत्री विश्वेन्द्र सिंह ने ड्राफ्ट पर किए हस्ताक्षर

गुर्जर नेता किरोड़ी सिंह बैंसला ने राज्य सरकार से लिखित आश्वासन मिलने के बाद आंदोलन समाप्त करने की घोषणा की और आंदोलनकारियों से अवरुद्ध किए सभी सड़क व रेलमार्ग खोलने को कहा।

इससे पहले राज्य सरकार की ओर से पर्यटन मंत्री विश्वेंद्र सिंह ने एक लिखित आश्वासन गुर्जर नेताओं को सौंपा था। बैंसला के अनुसार, राज्य सरकार ने यह आश्वासन दिया है कि विधानसभा में पारित विधेयक को अगर कोई कानूनी चुनौती मिलती है तो सरकार उनका साथ देगी।

उल्लेखनीय है कि राज्य विधानसभा ने गुर्जर सहित पांच जातियों को आरक्षण संबंधी विधेयक बुधवार को पारित कर दिया था। इस बारे में अधिसूचना भी जारी कर दी गयी। लेकिन गुर्जर नेता सरकार से लिखित में आश्वासन चाहते थे कि अगर विधेयक को कहीं कानूनी चुनौती दी जाती है तो सरकार उनका साथ देगी। गुर्जर आंदोलन समाप्त होने से राज्य में रेल व सड़क यातायात सुचारू होने की उम्मीद है।

रेलवे ने यात्रियों को लौटाए 1 करोड़ 68 लाख रुपये

गुर्जरों ने आंदोलन के दौरान रेल की पटरियों और हाईवे को रोक लिया था, जिसके कारण बड़ी संख्या में ट्रेनें रद्द की गईं। करीब 65 हजार यात्रियों की यात्रा रद्द हुई है। जिसके चलते रेलवे को भी काफी नुकसना झेलना पड़ा। रेलवे को इसके कारण 1 करोड़ 68 लाख रुपये लौटाने पड़े हैं।

गुर्जर आरक्षण आंदोलन के चलते उत्तर-पश्चिम रेलवे के जयपुर-सवाई माधोपुर के बीच ट्रैक को रोके जाने से 13 फरवरी से जयपुर से शुरु व गुजरने वाली करीब 50 से अधिक ट्रेनों के मार्ग में परिवर्तन, शॉर्ट टर्मिनेशन और निरस्तीकरण किया गया है। इसके साथ ही 8 तारीख से सवाई माधोपुर-बयाना खंड पर रोके गए ट्रैक के कारण अब तक 150 से अधिक ट्रेनों के मार्ग में बदलाव भी किया गया है।

इससे सबसे ज्यादा नुकसान यहां से कोटा, सूरत, मुंबई जाने वाले यात्रियों को हुआ है। जिस लाइन को आंदोलनकारियों ने रोका वहां से होकर पश्चिम और पश्चिम मध्य रेलवे की बड़ी संख्या में ट्रेनें गुजरती हैं।

जो राजस्थान को महाराष्ट्र, गुजरात से जोड़ती हैं। 8 फरवरी से जयपुर स्टेशन पर रिजर्वेशन कैंसिल कराने वाले लोगों की लंबी-लंबी लाइन लग रही हैं। वहीं रेलवे द्वारा किसी भी अतिरिक्त काउंटर की व्यवस्था नहीं की गई है।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »