बच्चों और बजुर्गों के लिए खतरनाक साबित हो सकता है ठंड का मौसम

ठंड का मौसम बच्चों और बजुर्गों के लिए सबसे ज्यादा खतरनाक साबित हो सकता है। ऐसे में उनका खास खयाल रखने की जरूरत होती है।
– सर्दी में बच्चों को बुखार व लूज मोशन हो सकता है। इन्हें नजरअंदाज न करें।
– बच्चों को ऐसी चीजों से बचाना चाहिए, जो उन्हें बीमार कर दे। बाहर के खाने से भी बचें।
– बच्चे को पानी को उबाल कर गुनगुना पानी ही पिलाएं। अधिक तेल और मसाले वाले खाने से परहेज करें।
– छह महीने तक के बच्चों के लिए सावधान रहना चाहिए। गर्म कपड़े पहनाकर उन्हें ठंडे वातावरण से बचाना चाहिए।
– स्कूल जाने वाले बच्चों को अच्छी तरह से गर्म कपड़े पहनाएं और पूरा शरीर ढंककर ही घर से बाहर निकलने दें।
– बच्चों को किसी भी तरह के इंफेक्शन से बचाने के लिए उनके हाथ साबुन से अच्छी तरह से धोते रहें।
– सर्दी-जुकाम से बचने के लिए नाक पर रूमाल लगाकर छीकें, सिर को ढंककर रखें।
बुजुर्ग बरतें सावधानी
– सुबह और शाम की सर्दी बुजुर्गों के लिए खतरनाक होती है इसलिए जिस दिन ज्यादा ठंड हो उस दिन मॉर्निंग और ईवनिंग वॉक न करें।
– ज्यादा फैट वाली चीजें ना खाएं और सिगरेट, शराब आदि का सेवन बिल्कुल बंद कर दें।
– अपने कलेस्ट्रॉल और ब्लड प्रेशर पर नियंत्रण रखें। नमक का सेवन कम करें। मक्खन व घी का प्रयोग भी सीमित मात्रा में करें।
– जहां तक संभव हो तनाव से बचें।
– गुनगुनी धूप का आनंद लें लेकिन सिर को अधिक तपने ना दें।
– मीठा अधिक खाने से बचें। फल और सब्जियों का सेवन ज्यादा करें। थोड़ा-थोड़ा व्यायाम जरूर करें।
दिल के मरीज रखें ध्यान
सर्दी का मौसम खासकर यह शीतलहर और जबरदस्त ठंड वाला मौसम हार्ट के मरीजों के लिए खतरे की चेतावनी लेकर आता है। विशेषज्ञों की मानें तो सर्दियों में ब्लड वेसल्स यानी रक्तवाहिनियां सिकुड़ जाती हैं जिसका सीधा असर दिल तक खून पहुंचाने वाली धमनियों पर पड़ता है और हार्ट अटैक का खतरा बढ़ जाता है। इससे बचने के लिए ज्यादा ठंडे माहौल में जाने से बचना चाहिए। अगर बाहर निकलना जरूरी हो तो अच्छी तरह से ऊनी कपड़े पहनकर निकलें। सिर पर टोपी, हाथ में ग्लव्स और पैरों में सॉक्स पहनना न भूलें। अस्थमा, ब्लड प्रेशर और हृदय रोगियों को अपनी दवा टाइम से लेनी चाहिए। ठंड से बचने का सबसे अच्छा तरीका यह है कि सर्दी होने के बावजूद पानी जरूर पीएं।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *