पत्रकार की मान्‍यता रद्द करने पर CNN ने ट्रंप प्रशासन के ख़िलाफ केस दायर किया

केबल न्यूज़ नेटवर्क CNN ने व्हाइट हाउस की ओर से अपने वरिष्ठ पत्रकार जिम एकोस्टा की मान्यता रद्द किए जाने के मामले में ट्रंप प्रशासन के ख़िलाफ केस दायर किया है.
जिम एकोस्टा व्हाइट हाउस में CNN के मुख्य संवाददाता थे. बीते हफ़्ते अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप के साथ बहस के बाद उनका ‘प्रेस हार्ड पास’ वापस ले लिया गया था. CNN नेटवर्क ने आरोप लगाया है कि ये एकोस्टा के संवैधानिक अधिकारों का उल्लंघन है.
ये मुकदमा मंगलवार को वाशिंगटन में दायर किया गया और इसमें राष्ट्रपति ट्रंप और उनके दूसरे सहयोगियों को प्रतिवादी बनाया गया है.
इन अधिकारियों में चीफ़ ऑफ़ स्टाफ़ जॉन केली और व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव सारा सैंडर्स शामिल हैं.
सारा सैंडर्स ने एकोस्टा का पास रद्द करने का कारण अस्वीकार्य आचरण को बताया था. उन्होंने मंगलवार को कहा कि जिम एकोस्टा सीएनएन के करीब 50 हार्ड पास धारकों में से एक हैं. ऐसा पहली बार नहीं है जब उन्होंने दूसरे पत्रकारों को सवाल पूछने से अनुचित ढंग से रोका है.
उन्होंने कहा, ”अगर कोई रिपोर्टर इस तरह व्यवहार करता है तो व्हाइट हाउस व्यवस्थित और निष्पक्ष प्रेस कॉन्फ्रेंस नहीं कर सकता. ये एक पेशेवर के लिए सही नहीं है. ”
एकोस्टा का आरोपों से इंकार
इस घटना के बाद सारा सैंडर्स ने ट्वीट करके एकोस्टा पर ”अपना काम कर रही एक महिला को जबरन हाथ से रोकने की कोशिश” का आरोप भी लगाया था.
सारा ने ये बात उस महिला के लिए कहीं जो व्हाइट हाउस में इंटर्न हैं और प्रेस कांफ्रेंस के दौरान जिम एकोस्टा से माइक लेने की कोशिश कर रही थीं.
हालांकि, एकोस्टा ने व्हाइट हाउस के आरोपों को गलत बताया और कहा कि उन्होंने कुछ गलत नहीं किया है.
बाद में सारा सैंडर्स ने उस वीडियो का एक ज़ूम किया हुआ क्लिप भी शेयर किया. इस वीडियो को लेकर विशेषज्ञों का कहना था कि की स्पीड से छेड़छाड़ की गई है.
इसके बाद व्हाइट हाउस कॉरस्पॉन्डेंट्स एसोसिएशन ने ट्रंप प्रशासन से ये फैसला वापस लेने की अपील की थी.
प्रेस कॉन्फ़्रेंस में क्या हुआ था?
ये घटनाक्रम सात नवंबर का है जब एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान डोनल्ड ट्रंप और एकोस्टा के बीच कुछ सवालों को लेकर बहस हो गई थी. इसके एक दिन बाद उनका पास रद्द कर दिया गया.
संवाददाता जिम एकोस्टा अमरीकी राष्ट्रपति से मेक्सिको के शरणार्थियों और मेक्सिको से अमरीका की ओर बढ़ रहे प्रवासियों के एक काफ़िले के बारे में सवाल करना चाहते थे.
लेकिन इस सवाल के बीच में ही ट्रंप के दफ़्तर में तैनात एक महिलाकर्मी ने पत्रकार के हाथ से माइक झपटने की कोशिश की.
इस दौरान अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने भी ये कहना शुरू कर दिया कि “बहुत हुआ, बहुत हुआ… बस करिए”. ट्रंप ने जिम एकोस्टा को माइक नीचे रखने के लिए भी कहा.
इसके बाद डोनल्ड ट्रंप ने कहा, “सीएनएन को ख़ुद पर शर्मिंदा होना चाहिए कि आप उनके लिए काम करते हैं. जिस तरह का व्यवहार आपने सारा सैंडर्स की टीम की मेंबर के साथ किया, वो निंदनीय है.”
मुकदमे के बाद सीएनएन ने एक बयान में कहा है, ”हमने कोर्ट से आदेश पर तत्काल रोक लगाने और जिम अकोस्टा का पास लौटाने का आग्रह किया है और हम इस प्रक्रिया के तहत स्थाई राहत मांगेगे.”
”भले ही ये मुकदमा सीएनएन और एकोस्टा की तरफ़ से है लेकिन ये किसी के भी साथ हो सकता है. व्हाइट हाउस हमारे चुने गए अधिकारियों को कवर करने वाले पत्रकारों पर इस तरह ख़तरनाक प्रभाव डाल सकता है.”
-BBC

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »